Gujarat Exclusive > देश-विदेश > VRS लेने के बाद बिहार के पूर्व DJP ने तोड़ी चुप्पी, कहा-सुशांत मामले से नहीं कोई लेना-देना

VRS लेने के बाद बिहार के पूर्व DJP ने तोड़ी चुप्पी, कहा-सुशांत मामले से नहीं कोई लेना-देना

0
389
  • बिहार विधानसभा चुनाव से बिल्कुल पहले डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने लिया वीआरएस
  • पांडेय के वीआरएस पर शिवसेना खड़ा कर रही है सवाल
  • विधानसभा चुनाव लड़कर सियासी पारी का कर सकते हैं आगाज

बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय अब सेवानिवृत्त हो चुके हैं. उन्होंने डीजीपी पद से मंगलवार को अचानक वीआरएस ले लिया था.

पद को छोड़ने वाले आवेदन को बिहार सरकार ने मंजूर कर लिया है. सेवानिवृत्त होने के बाद गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि वह अब डीजीपी नहीं रहे इसलिए उनपर अब सरकारी आदेश लागू नहीं होगा.

VRS लेने के बाद बिहार के पूर्व DJP ने तोड़ी चुप्पी

वीआरएस लेने के एक दिन बाद यानी आज उन्होंने मीडिया को खिताब करते हुए कहा कि मेरे रिटायरमेंट सुशांत सिंह राजपूत मामले से कोई लेना-देना नहीं है.

उन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि सेवानिवृत्त होने के बाद सेवा करने के लिए सिर्फ राजनीति ही एक जरिया है ऐसा बिल्कुल भी नहीं है. उन्होंने कहा कि वे किसी भी राजनीतिक पार्टी को अभी भी ज्वाइन नहीं किया है.

ना ही अभीतक इसे लेकर कोई फैसला लिया है. उन्होंने कहा कि बड़ी संख्या में लोग मुलाकात करने आ रहे हैं लोगों से मिलकर उनसे राय लेकर ही राजनीति में जाना है या नहीं इसे लेकर फैसला किया जाएगा.

लेकिन सामाजिक कार्य राजनीति में बिना जाए भी किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: बिहार डीजीपी ने मुंबई पुलिस पर लगाया गंभीर आरोप, कहा- उनकी मंशा नहीं साफ

विधानसभा चुनाव लड़कर सियासी पारी का कर सकते हैं आगाज

बिहार में जारी विधानसभा चुनाव से बिल्कुल पहले गुप्तेश्वर पांडेय का वीआरएस लेना सियासी पार्टी से जुड़े लोगों को हजम नहीं हो रहा है. सियासी पार्टी से जु़ड़े लोगों का मानना है कि वह आगामी बिहार विधानसभा चुनाव लड़ेंगें.

नीतीश कुमार की सरकार ने उनके वीआरएस पर मंजूरी की मुहर लगा दी है. जिसके बाद से अटकले तेज हो गई है कि वह बक्सर से विधानसभा चुनाव लड़कर सियासी पारी का आगाज करेंगे.

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे का वीआरएस लेना सियासी गलियारे में चर्चा का विषय बन गया है. खासतौर से शिवसेना इस मामले को सियासी नजरिया से देख रही है.

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि मुझे पहले से ही मालूम था कि गुप्तेश्वर पांडेय राजनीती में जाएंगें.

वहीं शिवसेना की राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने भी पांडेय पर बिना नाम लिए जमकर हमला बोला है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

मुंबई पहुंचे पटना एसपी को BMC ने किया क्वारंटाइन, फिर से बढ़ा विवाद