Gujarat Exclusive > गुजरात > अहमदाबाद: पालडी संस्कार केंद्र में मुफ्त एंट्री बंद, अब लेना होगा टिकट

अहमदाबाद: पालडी संस्कार केंद्र में मुफ्त एंट्री बंद, अब लेना होगा टिकट

0
641

लक्ष्मी पटेल, अहमदाबाद: अहमदाबाद नगर निगम ने कांकरिया और साबरमती रिवरफ्रंट गार्डन के टिकट मॉडल को पालडी संस्कार केंद्र सह संग्रहालय में भी लागू किया गया है.

अब स्थायी समिति में पालडी संस्कार केंद्र में नि: शुल्क प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव पेश किया गया है. Free entry closed

संस्कार केंद्र में प्रवेश के लिए अब टिकट लेना पड़ेगा. संस्कार केंद्र सह संग्रहालय को 1954 में तैयार किया गया था.

66 साल बाद टिकट किया गया अनिवार्य

पालड़ी संस्कार केंद्र में प्रवेश अब मुफ्त में नहीं मिलेगा बच्चों के लिए 10 रुपये और बड़े आदमियों को 20 रुपये का टिकट लेना होगा.

गुजरात और अहमदाबाद की विरासत को देखने के लिए विदेशी नागरिकों को 50 रुपये खर्च करने होंगे. 1954 में स्थापित संस्कार केंद्र संग्रहालय में 66 साल बाद टिकट अनिवार्य किया गया है.

गुजरात और अहमदाबाद की विरासत को देखने के लिए आपको टिकट खरीदना होगा. नगर निगम के इस फैसले का विपक्ष ने विरोध शुरू किया है.

विपक्ष ने नगर निगम के फैसले का किया विरोध Free entry closed

पालडी स्थित संस्कार केंद्र में देश और विदेश के सैकड़ों लोग हर दिन गुजरात की विरासत को देखने के लिए आते हैं. यहां की सिटी म्यूजियम में ऐतिहासिक कलाकृतियों का संग्रह है.

यह देश का एकमात्र पतंग संग्रहालय है. 1954 में विश्व-प्रसिद्ध ली कोर्बजियार ने 15,000-वर्ग फुट में संग्रहालय का डिजाइन किया था. हर महीने 1500 से ज्यादा आगंतुक यहां आते हैं.

अहमदाबाद नगर निगम ने अन्य शहरों में संग्रहालयों के लिए टिकट लेना अनिवार्य की दलील देते हुए यहां के टिकटों पर फैसला किया है. Free entry closed

स्थायी समिति में पेश किए गए प्रस्ताव के मुताबिक बच्चों के लिए 10 रुपये, वयस्कों के लिए 20 रुपये, विदेशियों के लिए 50 रुपया और कमर्शियल फोटोग्राफी के लिए 500 रुपये का प्रस्ताव रखा गया है.

संस्कार केंद्र अहमदाबाद की पहचान है लेकिन टिकट तय करने से यहां आने वाले लोगों की संख्या में कमी होने की उम्मीद जताई जा रही है. Free entry closed

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

गुजरात में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2 लाख 22 हजार के पार, 4123 की मौत