Gujarat Exclusive > देश-विदेश > ग्लेशियर की तबाही के बाद अब तक 18 शव बरामद, राहत बचाव कार्य जारी

ग्लेशियर की तबाही के बाद अब तक 18 शव बरामद, राहत बचाव कार्य जारी

0
222

Glacier Collapse Update: उत्तराखंड में ग्लेशियर फटने के बाद धीरे-धीरे चमोली और उसके आस-पास जिंदगी समान्य करने में जुटे हुए हैं. राहत और बचाव कार्य जारी हैं जबकि लापता लोगों की तलाश भी जारी है. इसी बीच उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने बताया है कि अब तक हमने 18 शव बरामद किए हैं और लापता लोगों की संख्या 202 है. Glacier Collapse Update

डीजीपी ने बताया कि हमने टनल में 80 मीटर तक मलबा हटा दिया है, आगे हमारी मशीनें लगी हुई हैं और हमें शाम तक कुछ सफलता मिलने की उम्मीद है. Glacier Collapse Update

यह भी पढ़ें: राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर पीएम मोदी का धन्यवाद प्रस्ताव, पढ़ें मुख्य बातें

इससे पहले उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बताया है कि तपोवन प्रोजेक्ट का काम चल रहा था, इसमें बड़ी संख्या में श्रमिक काम कर रहे थे. मैंने अपने मुख्य सचिव को बोला है कि यहां मौजूद ISRO के वैज्ञानिकों की मदद से ग्लेशियर टूटने के कारणों को ढूंढा जाए ताकि भविष्य में हम एहतियात बरत सके. Glacier Collapse Update

तपोवन NTPC पावर प्रोजेक्ट की सुरंग में 30 मजदूरों के फंसे होने की जानकारी है, जिन्हें निकालने की कोशिश हो रही है. राष्ट्रीय और राज्य की आपदा प्रबंधन की टीम सहित यहां पर ITBP की टीमें भी लगी हुई हैं. Glacier Collapse Update

भारी नुकसान का आंदेशा

ऋषिगंगा और तपोवन पावर प्रोजेक्ट बह जाने से करीब 700 करोड़ का नुकसान होने का अनुमान है. एनडीआरएफ और एसडीआरएफ सहित आईटीबीपी और पुलिस की कई टीमें लापता लोगों और शवों की खोज में जुटे हुए हैं. Glacier Collapse Update

बता दें कि उत्तराखंड के चमोली जिले के जोशीमठ में ग्लेशियर टूटने के कारण आए एवेलांच से अलनकनंदा और धौलीगंगा नदियों में भयंकर बाढ़ आ गई है. बाढ़ यहां पर पांच पुलों को बहा ले गई और रास्ते में आने वाले घरों, पास के NTPC पावर प्लांट और एक छोटे हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट ऋषिगंगा को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें