Gujarat Exclusive > गुजरात > गोधरा कांड के आरोपी की सजा के दौरान जेल में मौत, लंबे समय से था बीमार

गोधरा कांड के आरोपी की सजा के दौरान जेल में मौत, लंबे समय से था बीमार

0
222

गोधरा कांड के आरोपी हाजी बिलाल की मौत हो गई है. वह पिछले चार साल से बीमार चल रहा था. हाजी बिलाल को इससे पहले गोधरा कांड में मौत की सजा सुनाई गई थी. लेकिन उसके बाद सजा को आजीवन कारावास में बदल दिया गया था.

पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंपा

उल्लेखनीय है कि हाजी बिलाल वडोदरा सेंट्रल जेल में सजा काट रहा था. बीमारी की वजह से उसे 22 तारीख को एसएसजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. डॉक्टरों ने हाजी बिलाल को ऑक्सीजन पर रखकर उसका इलाज कर रहे थे. लेकिन उसकी मौत हो गई. पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव को उनके परिजनों को सौंप दिया है.

क्या था पूरा मामला

27 फरवरी, 2002 को गोधरा रेलवे स्टेशन पर भीड़ ने साबरमती ट्रेन के डिब्बे में आग लगा दी थी, जिसमें कम से कम 59 लोग मारे गए थे. जबकि 48 लोग घायल हो गए थे. घटना में गिरफ्तार 94 आरोपियों पर मुकदमा चल रहा था. जिसमें 11 आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई गई थी. जबकि 20 आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी. जबकि 63 आरोपियों को बरी कर दिया गया था. निचली कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ गुजरात हाई कोर्ट में अपील दायर की गई थी.

गुजरात हाई कोर्ट ने 9 अक्टूबर 2017 को अपना फैसला सुनाया था. कोर्ट फांसी की सजा को बदलकर उम्रकैद कर दिया था. जबकि जिन 20 आरोपियों के उम्रकैद की सजा बरकरार रखी गई थी.

गुजरात के 8 महानगरों में लगा नाइट कर्फ्यू 1 दिसंबर से हटने की संभावना