Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > भोपाल से आई अच्छी खबर, होम्योपैथिक पद्धति से पहली बार तीन मरीजों ने कोरोना को दी मात

भोपाल से आई अच्छी खबर, होम्योपैथिक पद्धति से पहली बार तीन मरीजों ने कोरोना को दी मात

0
960

मध्य प्रदेश के भोपाल में कोरोना संकटकाल में पहली बार होम्योपैथिक पद्धति ने कोरोना को मात दी है. दरअसल, 13 मई को कोरोना के हल्के लक्षणों के साथ शहर के तीन मरीजों को भर्ती किया गया था. इन सभी मरीजों का इलाज होम्योपैथिक पद्धति से भोपाल के गवर्नमेंट होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में हुआ. इलाज के बाद सभी मरीजों का दस दिन बाद परीक्षण किया गया. टेस्ट में सभी मरीज स्वस्थ मिले हैं जिसके बाद आज अस्पताल से सभी की भारत सरकार की नई गाइडलाइन के तहत छुट्टी कर दी गई.

होम्योपैथी अस्पताल के डॉक्टरों के मुताबिक कोरोना के अति मंद लक्षणों वाले मरीजों को प्रचलित दवा हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन के अलावा लक्षणों के आधार पर होम्योपैथी दवाएं देकर उनकी निगरानी की गई. डॉक्टरों के मुताबिक कोरोना के फर्स्ट स्टेज में ही इलाज कर कोरोना वायरस को खत्म किया गया है. शासकीय होम्योपैथी अस्पताल की अधीक्षक डॉ. सुनीता तोमर का कहना है कि शासन से मिले निर्देशों के आधार पर कोरोना के हल्के लक्षण वाले पेशेंट्स को होम्योपैथिक से ट्रीटमेंट दिया गया जिससे सभी मरीज अब स्वस्थ्य हो चुके हैं और पूरी तरह ठीक होने के बाद आज उनकी घर वापसी हुई.

उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश में शनिवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 201 नए मामले सामने आए हैं और इस तरह प्रदेश में कोविड-19 से संक्रमितों का आंकड़ा 6,373 तक पहुंच गया. वहीं, राज्य में पिछले 24 घंटों में इस बीमारी से नौ और व्यक्तियों की मौत हुई है जिससे मरने वालों का आंकड़ा 281 पहुंच गया है.

क्या मोबाइल से फैलता है कोरोना का संक्रमण?, UP में अब कोरोना मरीज मोबाइल का नहीं कर सकेंगे इस्तेमाल