Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > गृहणियों के लिए खुशखबरी, 10 फीसदी तक सस्ता हो सकता है कुकिंग ऑयल

गृहणियों के लिए खुशखबरी, 10 फीसदी तक सस्ता हो सकता है कुकिंग ऑयल

0
282

उद्योग जगत के अधिकारियों का मानना है कि अगले सप्ताह से खाना पकाने का तेल (कुकिंग ऑयल) 10 प्रतिशत तक सस्ता होने की संभावना है, क्योंकि वैश्विक कीमतें गिर रही हैं. वैश्विक कीमतों का भारतीय बाजार पर एक मजबूत असर है क्योंकि देश अपनी वार्षिक खपत 23.5 मिलियन टन का लगभग 70 प्रतिशत आयात करता है. खाने के तेल में यह गिरावट विश्व में फैले कोरोना वायरस के आतंक की वजह से देखने को मिल रहा है.

अडानी विल्मर के डिप्टी सीईओ अंगशू मालिक ने कहा, खाद्य तेल का सबसे बड़ा आयातक देश चीन है जहां अभी इसकी मांग बेहद कम हो गई है. इसकी वजह से वैश्विक बाजार में इसकी कीमत में गिरावट हो सकती है और यही असर घरेलू बाजार में भी हो सकता है. कीमत में गिरावट के बारे में हम उपभोक्ताओं को जानकारी देंगे जिसके बारे में आगामी सप्ताह में पैक पर लगे स्टीकर के जरिये जानकारी दी जाएगी.

मलिक ने कहा कि उपभोक्ताओं 10 फीसदी कम कीमत पर पाम ऑयल और सोयाबीन ऑयल ले सकेंगे जिसके लिए आठ रुपये प्रति लीटर अदा करने होंगे जबकि सनफ्लावर ऑयल के लिए सात फीसदी कम कीमत के साथ प्रति लीटर पांच रुपये कम पर हम भुगतान करेंगे. ब्रांडेड सोयाबीन और पाम ऑयल की वर्तमान थोक कीमतें 78 रुपये लीटर हैं जबकि सनफ्लावर ऑयल की कीमत 82 रुपये लीटर है। मलिक ने कहा कि दुनिया के अन्य क्षेत्रों में कोरोना वायरस के फैलने के कारण हम कीमतों में 3 रुपये प्रति लीटर की गिरावट की उम्मीद कर सकते हैं.

मालूम हो कि कोरोना वायरस की वजह से पूरी दुनिया में हड़कंप मचा हुआ है. चीन में करीब 3000 लोगों की इसके चपेट में आने से मौत हो चुकी है. साथ ही दुनिया के अन्य देशों में भी कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है. इसका व्यापक असर वैश्विक बाजार पर भी पड़ा है. यही वजह है कि खाद्य पदार्थों की कीमतों में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है.