Gujarat Exclusive > देश-विदेश > ग्रेटा थनबर्ग के खिलाफ नहीं हुआ कोई केस, दिल्ली पुलिस ने दी सफाई

ग्रेटा थनबर्ग के खिलाफ नहीं हुआ कोई केस, दिल्ली पुलिस ने दी सफाई

0
113

Greta Thunberg FIR Update: किसान आंदोलन को लेकर जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) द्वारा किए गए ट्वीट को लेकर घमासान मचा हुआ है. गुरुवार को ये खबर आई कि ग्रेटा थनबर्ग के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज किया है लेकिन अब पुलिस ने इस मामले में सफाई दी है.

दिल्ली पुलिस ने कहा कि किसान आंदोलन की आड़ में सरकार के ख़िलाफ़ सोशल मीडिया पर जो पोस्ट किए जा रहे थे उस सिलसिले में एक एफ़आईआर दर्ज की गई है. हालांकि पुलिस ने ये स्पष्ट किया है कि इस एफ़आईआर में ग्रेटा थनबर्ग का नाम नहीं है. (Greta Thunberg FIR Update)

यह भी पढ़ें: दिल्ली पुलिस ने ग्रेटा थनबर्ग के खिलाफ दर्ज किया केस, किसान आंदोलन को लेकर किया था ट्वीट

गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त प्रवीर रंजन ने कहा कि दिल्ली के तीनों बॉर्डर पर किसान आंदोलन चल रहा है. दिल्ली पुलिस सोशल मीडिया को मॉनिटर कर रही है. लगभग 300 सोशल मीडिया हैंडल पाए गए हैं, जिनका इस्तेमाल घृणित और निंदनीय कंटेंट फैलाने के लिए किया जा रहा है. (Greta Thunberg FIR Update)

उन्होंने कहा कि इनका इस्तेमाल कुछ वेस्टर्न इंटरेस्ट ऑर्गनाइजेशनों द्वारा किया जा रहा है, जो किसान आंदोलन के नाम पर भारत सरकार के खिलाफ गलत प्रचार कर रहे हैं. सोशल मीडिया की मॉनिटरिंग के दौरान टूलकिट मिला है. टूलकिट के लेखक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. FIR में किसी का नाम नहीं है, ये केवल टूलकिट को बनाने वालों के खिलाफ है, जो जांच का विषय है. दिल्ली पुलिस उस मामले की जांच करेगी. (Greta Thunberg FIR Update)

खालिस्तानी समर्थकों का टूलकिट

प्रवीर रंजन ने बताया, “ये टूलकिट खालिस्तानी समर्थक संगठन पोएटिक जस्टिस फाउंडेशन के द्वारा बनाया गया है. इसे पहले अपलोड किया गया और फिर कुछ दिन बाद इसे डिलीट कर दिया गया.” (Greta Thunberg FIR Update)

उन्होंने आगे बताया, “इसी के मद्देनज़र दिल्ली पुलिस ने टूलकिट लिखने वालों के ख़िलाफ़ आईपीसी की धारा 124 ए, 153, 153 ए और 120 बी के तहत मामला दर्ज किया है. इसकी जांच साइबर सेल को सौंप दी गई है. हमने एफ़आईआर में किसी का नाम नहीं लिया है.” (Greta Thunberg FIR Update)

ग्रेटा ने फिर किया ट्वीट

दिल्ली पुलिस की तरफ से FIR दर्ज किए जाने के बाद ग्रेटा थनबर्ग ने कहा है कि मैं अब भी किसानों के साथ हूं. स्वीडन की जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग ने कहा, ”मैं अभी भी किसानों के साथ खड़ी हूं और उनके शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन का समर्थन करती हूं. नफरत, धमकी या मानवाधिकारों के उल्लंघन की किसी भी कोशिश से यह नहीं बदलेगा.’‘ (Greta Thunberg FIR Update)

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें