Gujarat Exclusive > गुजरात > छात्रों के हित में GSEB का बड़ा फैसला, घर बैठे मिलेगा मार्कशीट

छात्रों के हित में GSEB का बड़ा फैसला, घर बैठे मिलेगा मार्कशीट

0
479

गांधीनगर: देश सहति पूरे गुजरात में कोरोना महामारी का कहर बढ़ता जा रहा है. देश में बेलगाम हुए कोरोना की वजह से प्रशासन हरकत में आ गया है.

ऐसे में गुजरात बोर्ड ऑफ हायर सेकेंडरी एजुकेशन (GSEB) ने छात्रों के हित में बड़ा और अहम फैसला लिया है. 10 वीं 12 वीं बोर्ड की मार्कशीट को छात्रों को स्पीड पोस्ट से घर पर भेजने का निर्णय लिया गया है.

जिसकी वजह से कोरोना संटक के बीच मार्कशीट लेने के लिए स्कूलों में आना नहीं पड़ेगा. लेकिन इसके लिए छात्रों को बोर्ड की वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा.

स्पीड पोस्ट से भेजा जाएगा मार्कशीट

इसके अलावा स्पीड पोस्ट के माध्यम से ही छात्रों को माइग्रेशन सर्टिफिकेट भी भेजने का निर्णय लिया गया है. लेकिन इसके लिए छात्रों को बोर्ड की वेबसाइट पर जाकर दोनों सुविधा हासिल करने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा.

कोरोना संटककाल के बीच छात्र एक जगह पर जमा ना हो इसलिए गुजरात बोर्ड ऑफ हायर सेकेंडरी एजुकेशन ने फैसला लिया है.

स्कूल में ना हो भीड़ इसलिए बोर्ड ने लिया फैसला

उल्लेखनीय है कि कोरोना संटक पर लगाम लगाने के लिए केंद्र सरकार के दिशानिर्देश अनुसार मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य कर दिया गया है.

इसीलिए बोर्ड ने स्कूल में भीड़ ना हो इसलिए स्पीड पोस्ट से मार्कशीट भेजने का फैसला किया है. इस सुवधा का लाभ लेने के लिए छात्रों को सिर्फ बोर्ड की वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा.

यह भी पढ़ें: गोरधन झडफिया की हत्या करने आने वाला शार्प शूटर कोरोना पॉजिटिव

गुजरात में बढ़ा कोरोना का कहर

गुजरात में कोरोना वायरस का आतंक कम होने का नाम नहीं ले रहा है. गुजरात में आज कोरोना के 1145 नए मामले सामने आए. वहीं राज्य में 17 और लोगों की मौत इस महामारी से हो गई.

राज्य में संक्रमित लोगों की कुल संख्या 82,087 तक पहुंच गई है. वहीं अब तक प्रदेश में कोरोना वायरस के कारण 2,839 लोगों की मौत हो चुकी है.


मौजूदा समय में राज्य में 14,418 सक्रिय मामले हैं. वहीं 64,830 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे जा चुकी है. आज राज्य में कुल 1120 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया.

राज्य में 81 मरीज वेंटिलेटर पर हैं. हालांकि 14,337 लोगों की हालत स्थिर है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

स्वच्छ सर्वेक्षण 2020: स्वच्छ शहरों में इंदौर का दबदबा कायम, सूरत को मिला दूसरा स्थान