Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > मार्च में GST कलेक्शन में रिकॉर्ड वृद्धि, पिछले साल से 27% की बढ़ोतरी

मार्च में GST कलेक्शन में रिकॉर्ड वृद्धि, पिछले साल से 27% की बढ़ोतरी

0
210

GST Collection: कोरोना महामारी ने भारत सहित पूरी दुनिया के अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ दी थी. हालांकि अब एकबार फिर भारत की अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट रही है. मार्च में हुआ जीएसटी कलेक्शन के आंकड़े बताते हैं कि देश की अर्थव्यवस्था तेजी से पटरी पर लौट रही है. देश में जीएसटी कलेक्शन में मार्च 2020 के मुकाबले मार्च 2021 में 27% की बढ़ोतरी देखने को मिली है. GST Collection

वित्त मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि मार्च में जीएसटी संग्रह बढ़कर 1.23 लाख करोड़ रुपये की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया, जो पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 27 प्रतिशत अधिक है. GST Collection

यह भी पढ़ें: ब्जाय दरों में कटौती पर सीतारमण का यूटर्न, लोगों ने कहा- मना लिया अप्रैल फूल?

मंत्रालय ने कहा, ‘‘जीएसटी राजस्व पिछले छह महीनों के दौरान एक लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा है, और इस अवधि में तेजी से वृद्धि के रुझानों से महामारी के बाद आर्थिक सुधार के स्पष्ट संकेत मिलते हैं.’’

सकल जीएसटी राजस्व मार्च 2021 में 1,23,902 करोड़ रुपये रहा, जिसमें केंद्रीय जीएसटी के 22,973 करोड़ रुपये, राज्य जीएसटी के 29,329 करोड़ रुपये और एकीकृत जीएसटी के 62,842 करोड़ रुपये (वस्तुओं के आयात पर जमा 31,097 करोड़ रुपये सहित), और उपकर के 8,757 करोड़ रुपये (वस्तुओं के आयात पर जमा 935 करोड़ रुपये सहित) शामिल हैं. पिछले साल मार्च में सरकार ने 97,590 करोड़ रुपये का जीएसटी कलेक्शन किया था. GST Collection

सेस से 8,757 करोड़ रुपये का राजस्व

जीएसटी के तहत 28% की दर के ऊपर कुछ वस्तुओं पर सरकार 15% तक का सेस लगाती है. सेस से होने वाली आय राज्यों के राजस्व नुकसान की भरपाई में काम आती है. सरकार ने अकेले इस मद से मार्च में 8,757 करोड़ रुपये राजस्व जुटाया है. इसमें 935 करोड़ रुपये आयातित वस्तुओं से जुटाए गए हैं. GST Collection

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें