Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > अच्छी खबर: दिसंबर में जीएसटी का रिकॉर्ड 1.15 लाख करोड़ का कलेक्शन

अच्छी खबर: दिसंबर में जीएसटी का रिकॉर्ड 1.15 लाख करोड़ का कलेक्शन

0
236

कोरोना महामारी के बीच देश की अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबर है. नए साल से पहले दिसंबर में वस्तु एवं सेवा कर (GST) संग्रह अब तक के सर्वोच्च स्तर 1.15 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया है. जीएसटी संग्रह दिसंबर में 1,15,174 करोड़ रुपये रहा है. यह लगातार तीसरा महीना है, जब जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा रहा. वहीं यह जीएसटी के पूरे इतिहास का अब तक का सबसे ज्यादा मंथली कलेक्शन है.

वित्त मंत्रालय ने बताया कि कुल राजस्व में केंद्रीय जीएसटी (GST) का योगदान 21,365 करोड़ रुपये रहा. राज्य जीएसटी (GST) 27,804 करोड़ रुपये रहा. इस दौरान एकीकृत जीएसटी 57,426 करोड़ रुपये और उपकर 8,579 करोड़ रुपये रहा.

यह भी पढ़ें: भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कोरोना को दी मात, एम्स की टीम का किया शुक्रिया

पहली बार 1.15 लाख करोड़ पार

पहली बार जीएसटी का आंकड़ा 1.15 लाख करोड़ को पार किया है. इसके पहले सबसे ज्यादा जीएसटी कलेक्शन अप्रैल 2019 में 1,13,866 करोड़ रुपये का था. इसमें केद्र सरकार का जीएसटी यानी CGST संग्रह 21,365 करोड़ रुपये और राज्यों का जीएसटी यानी SGST 27,804 करोड़ रुपये रहा.

इसी तरह कुल इंटीग्रेटेड जीएसटी (IGST) 57,426 करोड़ रुपये रहा, जिसमें सेस 8,579 करोड़ रुपये का है. ​नवंबर महीने के लिए कुल 87 लाख GSTR-3B रिटर्न दाखिल हुआ है.

12 फीसदी की बढ़त

जीएसटी राजस्व में सुधार के हालिया रुख के अनुरूप दिसंबर में संग्रह का आंकड़ा पिछले साल के समान महीने से 12 फीसदी अधिक रहा है. यह मंदी के दौर से गुजर रही अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा संकेत है. इस दौरान पिछले साल के इसी महीने के मुकाबले माल के आयात से राजस्व 27 फीसदी अधिक रहा और घरेलू लेनदेन (सेवाओं के आयात सहित) से राजस्व आठ फीसदी अधिक रहा. अब तक अप्रैल 2019 के महीने में जीएसटी संग्रह 1,13,866 करोड़ रुपये रहा था, जो उच्चतम स्तर था.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें