Gujarat Exclusive > देश-विदेश > यूपी में लॉकडाउन-5 के लिए दिशा-निर्देश जारी, राज्य में खुलेंगे धार्मिक स्थल, मॉल, रेस्टोरेंट

यूपी में लॉकडाउन-5 के लिए दिशा-निर्देश जारी, राज्य में खुलेंगे धार्मिक स्थल, मॉल, रेस्टोरेंट

0
465

गृह मंत्रालय ने शनिवार को देश में लॉकडाउन के अगले चरण के लिए दिशानिर्देश जारी किए थे जिसके मुताबिक राज्य सरकारें अपने क्षेत्र की स्थिति के आधार पर रियायतों को लेकर कुछ फैसले ले सकती हैं. इस बीच लॉकडाउन 5.0 के लिए यूपी सरकार ने अपने दिशा-निर्देश रविवार को जारी किए. फिलहाल यूपी में भी 30 जून तक लॉकडाउन जारी रहेगा. हालांकि दिशानिर्देशों के मुताबिक, कंटेनमेंट जोन के बाहर के क्षेत्र में 8 जून से धार्मिक स्थल खोले जा सकेंगे. शॉपिंग मॉल्स और होटल-रेस्तरां भी खोले जा सकेंगे.

उत्तर प्रदेश के लिए मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने दिशा-निर्देशों का ऐलान किया. उन्होंने कहा कि एक केस हुआ तो कंटेनमेंट जोन का दायरा 250 मीटर होगा. दो केस हुए तो कंटेनमेंट जोन का दायरा 500 मीटर होगा. कंटेनमेंट जोन में सिर्फ जरूरी चीजें मिलेंगी.

नए दिशा-निर्देशों के मुताबिक, यूपी में बाजार सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक खुलेंगे जबकि थोक सब्जी मंडी सुबह 6 बजे से 9 बजे तक खुलेंगी. इसके अलावा फल मंडी सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक खुलेंगे. वहीं राज्य में सैलून खुलेंगे लेकिन कर्मचारी फेस मास्क लगाएंगे. सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सैलून और ब्यूटी पार्लर खुलेंगे.

बाजार भी खोलने का फैसला किया गया है लेकिन बाजार में सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करना होगा. शादी-बारात घर में 30 से ज्यादा लोगों को इजाजत नहीं होगी. राज्य में दो पहिया वाहन पर मास्क लगाकर 2 लोग सवारी कर सकते हैं जबकि थ्री व्हीलर में जितनी सीट उतने सवाली बैठ सकते हैं. बस में जितनी सीट उतनी सवारी बैठ सकती है. माल वाहक वाहन के आने जाने पर कोई प्रतिबंध नही होगा. यूपी के अंदर रोडवेज़ की बसें चलाई जाएंगी. अपनी गाड़ियों सर चलने वालों को आरोग्य सेतु ऐप रखना ही होगा.

उत्तर प्रदेश में सुपर मार्केट खोलने की भी अनुमति दे दी गई है. हालांकि मिठाई की दुकानों में बिठाकर खिलाया नहीं जा सकेगा. खेल परिसर और स्टेडियम बिना दर्शकों के खोलने की अनुमति होगी. इसके अलावा नर्सिंग होम और प्राइवेट अस्पताल हेल्थ डिपार्टमेंट की अनुमति के बाद इमरजेंसी सेवाओ को खोल सकेंगे.

दिल्ली सरकार के पास कर्मचारियों को देने के लिए नहीं बचे पैसे, केंद्र से मांगी मदद