Gujarat Exclusive > गुजरात > अहमदाबाद सहित 8 नगर निगम में लग सकता है लॉकडाउन, सरकार कर रही है चर्चा

अहमदाबाद सहित 8 नगर निगम में लग सकता है लॉकडाउन, सरकार कर रही है चर्चा

0
905

गांधीनगर: कोरोना के बढ़ते आतंक पर काबू पाने के लिए लॉकडाउन ही एक मात्र विकल्प माना जा रहा है. लेकिन लॉकडाउन लागू करने से अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान होता है.

रोजगार बंद होने से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. इसलिए लॉकडाउन की लोग वकालत नहीं कर रहे. Gujarat 8 Municipal Corporation Lockdown

लेकिन लोगों का मानना है कि शहरों में वीकेंड लॉकडाउन लगा दिया गया है.

बैठक के बाद लिया जाएगा फैसला Gujarat 8 Municipal Corporation Lockdown

इस बीच जानकारी सामने आ रही है कि गुजरात के 8 नगर निगम इलाकों में सख्त लॉकडाउन लगाने की तैयारी की जा रही है. सरकार लॉकडाउन लागू करने को लेकर चर्चा-विचारणा कर रही है.

दिल्ली-राजस्थान सहित कई राज्यों ने कोरोना की चैन तोड़ने के लिए आंशिक लॉकडाउन की घोषणा की है.

गुजरात में लॉकडाउन लागू करने की मांग Gujarat 8 Municipal Corporation Lockdown

गुजरात में कोरोना की वजह से हर गुजरते दिन के साथ स्थिति खराब होती जा रही है. कल पहली बार राज्य में कोरोना की वजह से 100 से ज्यादा लोगों की मौत दर्ज की गई.

गुजरात में कोरोना के बढ़ते आतंक का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मौजूदा माह अप्रैल के 18 दिनों में राज्य में 858 मरीजों की मौत दर्ज की गई है.

यह आंकड़े आधिकारिक हैं लेकिन मरने वालों की संख्या सात या आठ फीसदी हो सकती है. Gujarat 8 Municipal Corporation Lockdown

अस्पताल से मौत का आंकड़ा और श्मसान गृह में कोरोना गाइडलाइन के तहत होने वाले अंतिम संस्कार के रिकॉर्ड में जमीन और आसमान का फर्क दिखाई दे रहा है.

अस्पतालों में नहीं बची जगह, घर पर रहने की दी जा रही सलाह Gujarat 8 Municipal Corporation Lockdown

अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा और राजकोट में कोरोना मामलों के साथ ही साथ मरने वालों की संख्या भी बढ़ रही है. अहमदाबाद में सरकारी और निजी अस्पताल में कोरोना रोगियों के इलाज के लिए जगह ही नहीं बची है.

अहमदाबाद सिविल अस्पताल में 95 प्रतिशत बेड कोरोना रोगियों से भरे हुए हैं. कोरोना की दूसरी लहर गुजरात में खतरनाक साबित हो रही है. Gujarat 8 Municipal Corporation Lockdown

गुजरात में शहरों के बाद अब गांवों में भी कोरोना मामलों में वृद्धि से सरकार की चिंता बढ़ गई है. राज्य के कुछ गांवों ने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए स्वैच्छिक तालाबंदी की घोषणा की है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कोरोना का कहर नहीं थमने से गुजरात सरकार ने ‘मां कार्ड’ की अवधि 3 महीने बढ़ा दी