Gujarat Exclusive > गुजरात > मेहसाणा RDX मामला: गुजरात ATS ने 25 साल से फरार दाऊद के सहयोगी को किया गिरफ्तार

मेहसाणा RDX मामला: गुजरात ATS ने 25 साल से फरार दाऊद के सहयोगी को किया गिरफ्तार

0
340

अहमदाबाद: मुंबई और अहमदाबाद में गणतंत्र दिवस पर धमाका करने के लिए 1996 में अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के द्वारा भेजे गए 2.5 करोड़ रुपये के RDX विस्फोटक के मामले में गुजरात एटीएस की टीम ने 25 साल से फरार आतंकी अब्दुल मजीद कुट्टी को गिरफ्तार किया है. Gujarat ATS RDX case

माना जाता है कि कुट्टी की गिरफ्तारी से गुजरात एटीएसए ने दाऊद के चैनल में एक महत्वपूर्ण सेंध लग गई. अब्दुल मजीद कुट्टी अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद, उसके भाई अनीश, छोटा शकील, अबू सलेम, टाइगर मेमन, मोहम्मद डोसा का करीबी था.

मेहसाणा में विस्फोटक जब्त किए जाने के बाद कुट्टी बैंकाक और वहां से मलेशिया भाग गया था. 2019 कुट्टी भारत आया और जमशेदपुर, में नाम बदलकर रह रहा था. Gujarat ATS RDX case

1996 से मजीद कुट्ट चल रहा था फरार

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद ने 1996 में राजस्थान बाड़मेर बॉर्डर से गुजरात में पाकिस्तान से विस्फोटक की तस्करी की थी. मेहसाणा पुलिस ने 4 किलो आरडीएक्स, 10 डेटोनेटर, पाकिस्तान निर्मित स्वचालित स्टार पिस्तौल और 10 चीनी निर्मित विस्फोटक जब्त किया था. 125 पिस्तौल, 113 मैग्जीन और 750 कारतूस सहति 2.50 करोड़ा का आरडीएस बरामद किया था. Gujarat ATS RDX case

मेहसाणा पुलिस ने तीन आरोपियों को किया था गिरफ्तार  Gujarat ATS RDX case

गुजरात पुलिस ने मोहम्मद फजल मूल निवासी अजमेर, राजस्थान, कुरैशी अनवर निवासी मुंबई और शकील इब्राहिम कुरैशी मूल निवासी बरेली उत्तर प्रदेश को गिरफ्तार किया था.

इस मामले में अब्दुल मजीद कुट्टी, अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद और अबू सलेम का नाम सामने आया था.

गुजरात एटीएस के हाथों लगी थी गुप्त जानकारी Gujarat ATS RDX case

गुजरात एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला और डीवाईएसपी केके पटेल को जानकारी मिली कि अब्दुल मजीद कुट्टी झारखंड के जमशेदपुर में टेल्को मस्जिद के पास बरिनगर में मोहम्मद कमाल मोहम्मद रसीद के नाम से रह रहा था.

एटीएस के हाथों जानकारी लगने के बाद डीवाईएसपी केके पटेल टीम के साथ मौके पर पहुंचे, और आरोपी अब्दुल मजीद कुट्टी उर्फ ​​मोहम्मद कमाल को गिरफ्तार कर लिया. Gujarat ATS RDX case

कुट्टी 1996 में दुबई में थे जब वह अबू सलेम से मिला था. सलेम ने गुजरात-महाराष्ट्र में गणतंत्र दिवस पर विस्फोट करने के लिए भेजे गए विस्फोटक की मात्रा की अजमेर से डिलीवरी के लिए कहा. Gujarat ATS RDX case

कुट्टी ने विस्टक सामान को लेने के लिए फजल नामक अपने आदमी को भेजा था. लेकिन उसकी गिरफ्तारी के बाद कुट्टी फरार हो गया. लेकिन वह 2019 में जमशेदपुर आया और कमल के नाम से रहने लगा.

फिलहाल आरोपी का कोरोना टेस्ट किया गया रिपोर्ट आने के बाद उसे गिरफ्तार किया जाएगा. इस मामले शामिल अन्य तीन आरोपियों को अदालत पहले ही आजीवन कारावास की सजा सुना चुकी है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कच्छ: जखौ के पास 4 लाख रुपये की चरस जब्त की गई