Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात कांग्रेस मेरे खिलाफ एक भी केस साबित कर दे, तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा: सीआर पाटिल

गुजरात कांग्रेस मेरे खिलाफ एक भी केस साबित कर दे, तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा: सीआर पाटिल

0
318
  • गुजरात विधानसभा उपचुनाव से पहले सियासत हुई तेज
  • कांग्रेस के आरोपों पर सीआर पाटिल ने किया पलटवार
  • कांग्रेस अगर मेरे खिलाफ एक भी केस साबित कर दे तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा पाटिल
  • कांग्रेस ने पाटिल के खिलाफ कई केस लंबित होने का किया था दावा 

गांधीनगर: गुजरात उपचुनाव मतगणना शुरू होने को लेकर कुछ दिनों का वक्त बाकी है. ऐसे में उम्मीदवार वोटरों को अपनी ओर आकृषित करने के लिए हर कोशिश कर रहे हैं.

इतना ही नहीं चुनावी प्रचार के दौरान आरोप-प्रत्यारोप का भी सिलसिला शुरू हो गया है. ऐसे में गुजरात भाजपा प्रमुख सीआर पाटिल ने कांग्रेस को चुनौती दी है.

कांग्रेस नेताओं के आरोपों पर पलटवार करते हुए सीआर पाटिल ने कहा, “अगर विपक्ष मेरे खिलाफ एक भी केस साबित करने में कामयाब हो जाए तो में राजनीति छोड़ने के लिए तैयार हूं.”

कांग्रेस के आरोपों पर सीआर पाटिल ने किया पलटवार

सीआर पाटिल ने कहा कि कांग्रेस नेता उन्हें बदनाम करने की लगातार कोशिश कर रहे है. उसके खिलाफ एक भी मामला साबित नहीं हुआ है और उनके खिलाफ आज तक कोई मामला भी दर्ज नहीं हुआ है.

अगर कांग्रेस एक भी केस मेरे खिलाफ साबित कर देती है तो मैं राजनीति छोड़ने के लिए तैयार हूं.

कांग्रेस ने पाटिल के खिलाफ कई केस लंबित होने का किया था दावा

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस नेता अमित चावड़ा और पूर्व अध्यक्ष अर्जुन मोढवाडिया ने यह कहते हुए भाजपा पर निशाना साधा था कि पाटिल के खिलाफ कई मामले लंबित हैं.

जबकि हार्दिक पटेल ने भी भाजपा पर आरोप लगाया कि गुजरात में भाजपा के पास प्रमुख के पद के लिए कोई योग्य नेता नहीं है. इसलिए एक बाहरी व्यक्ति को अध्यक्ष बनाया गया है.

कांग्रेस के आरोपों पर पलटवार करते हुए पाटिल ने कांग्रेसी नेताओं को चुनौती है है.

उल्लेखनीय है कि सूरत में भाजपा की एक चुनावी रैली में अंडे फेंकने के आरोप में पुलिस ने एक कांग्रेस पार्षद के पति को गिरफ्तार किया था.

जिसके बाद बीजेपी मीडिया प्रभारी प्रशांत वाणा घटना की निंदा करते हुए कहा, “हम पहले ही कह चुके हैं कि इस तरह के काले काम कांग्रेस ही कर सकती है.

कांग्रेस का काला चेहरा आज एक बार फिर उजागर हुआ है. चुनाव में कांग्रेस टक्कर नहीं दे सकती इसलिए इस तरीके के निचले स्तर की राजनीति करने पर उतर गई है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

आयुष्मान भारत में गुजरात की ‘माँ’ और ‘माँ वात्सल्य कार्ड’ योजना का विलय