Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात में लम्पी वायरस का बढ़ा प्रकोप, मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल पहुंचे कच्छ

गुजरात में लम्पी वायरस का बढ़ा प्रकोप, मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल पहुंचे कच्छ

0
129

गांधीनगर: मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल कच्छ पहुंच गए हैं. वह लम्पी वायरस के खिलाफ जिला प्रशासन की ओर से किए गए कामों की समीक्षा करेंगे. इतना ही नहीं वह टीकाकरण के कामकाज का निरीक्षण करेंगे. साथ ही स्थानिक प्रशासन और अधिकारियों के साथ एक बैठक भी करेंगे.

गौरतलब है कि सीएम भूपेंद्र पटेल आज कच्छ के दौरे पर हैं. वे आइसोलेशन, टीकाकरण केंद्र का दौरा करेंगे, इसके अलावा वह महामारी नियंत्रण पर काम की समीक्षा करेंगे. मुख्यमंत्री पशुओं में लम्पी वायरस से होने वाले स्किन डिजीज की समीक्षा के लिए कच्छ का दौरा कर रहे हैं. मुख्यमंत्री भुज में पशु अलगाव केंद्र का भी दौरा करेंगे.

गुजरात में मवेशियों को होने वाले लम्पी वायरस की वजह से दूध देने वाले हजारों जानवरों की मौत हो चुकी है. गुजरात के कृषि मंत्री राघवजी पटेल के मुताबिक इस वायरस से संक्रमित 1,240 मवेशियों की मौत हो चुकी है. लेकिन विपक्ष ने आरोप लगाया है कि मरने वाले मवेशियों की संख्या 25 से 30 गुना ज़्यादा है. मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस दावा कर रही है कि गुजरात सरकार मरने वाले मवेशियों की असल संख्या छिपा रही है.

क्या है लम्पी वायरस?

गौरतलब है कि पाकिस्तान के रास्ते भारत में आने वाला यह खतरनाक और संक्रामक वायरस राजस्थान और गुजरात में दूध देने वाले जानवरों को अपना शिकार बना रहा है. इसकी चपेट में आने वाले ज्यादातर जानवरों की मौत हो रही है. यह मवेशियों की त्वचा से जुड़ी एक बीमारी है. इसे ‘गांठदार त्वचा रोग वायरस’ भी कहते हैं. दुनिया में मंकीपॉक्स के बाद अब यह दुर्लभ संक्रमण वैज्ञानिकों की चिंता का कारण बना हुआ है.

चुनावी मोड में गुजरात आम आदमी पार्टी, बीजेपी-कांग्रेस ने भी शुरू की तैयारियां