Gujarat Exclusive > गुजरात > कोरोना वैक्सीन: आज से गुजरात सहित देश के 4 राज्यों में ड्राय रन का आगाज

कोरोना वैक्सीन: आज से गुजरात सहित देश के 4 राज्यों में ड्राय रन का आगाज

0
444

गांधीनगर: भारत में कोरोना के नए मामलों में दिन प्रतिदिन कमी दर्ज की जा रही है. नए मामलों में दर्ज की जाने वाली भारी गिरावट के बाद लोग राहत की सांस ले रहे हैं. Gujarat corona vaccine dry run

ऐसे में एक और अहम जानकारी सामने आ रही है कि कोरोना वैक्सीन का बेसब्री से इंतजार करने वाले लोगों का इंजरात जल्द खत्म होने वाला है. क्योंकि आज से देश में कोने-कोने तक कोरोना को पहुंचाने की तैयारियां शुरू हो जाएंगी.

पंजाब, असम, आंध्र प्रदेश और गुजरात में कोरोना वैक्सीन से पहले तैयारियों का जायजा लेने के लिए दो दिवसीय ड्राई रन आज से किया जाएगा.

ताकि वैक्सिनेशन से पहले सारी तैयारियों का जायजा लिया जा सके और अगर कोई कमी इस दौरान नजर आती है तो उसको ठीक किया जा सके.

4 राज्यों में कोरोना वैक्सीन का ड्राय रन Gujarat corona vaccine dry run

गुजरात में कोरोना के नए मामलों में बीते कुछ दिनों से कमी दर्ज की जा रही है. इस बीच जानकारी सामने आ रही है कि सरकार का लक्ष्य जनवरी से देश में कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू करना है.

इसके लिए केंद्र सरकार ने 4 राज्यों में टीकाकरण ड्राई रन शुरू करने का फैसला किया है. गुजरात, पंजाब, असम, आंध्र प्रदेश और गुजरात आज से टीकाकरण मॉक ड्रिल शुरू करेंगे. Gujarat corona vaccine dry run

वेक्सिनेशन को लेकर होने वाली मॉक ड्रिल प्रत्येक राज्य के दो जिलों में 28 और 29 दिसंबर को दो दिनों तक चलेगी. गुजरात के राजकोट और गांधीनगर में वैक्सीन की तैयारियों को अंतिर रूप दिया गया है.

कोरोना वैक्सीन से पहले गुजरात सरकार तैयार Gujarat corona vaccine dry run

कोरोना वैक्सीन मॉक ड्रिल से सरकार आने वाली वैक्सीन की तैयारियों का परीक्षण करना चाहती है. इस मॉक ड्रिल के दौरान किसी को भी कोई टीका नहीं दिया जाएगा, लेकिन टीकाकरण की पूरी प्रक्रिया का पालन किया जाएगा.

गौरतलब है कि भारत में आपातकालीन उपयोग के लिए किसी भी कोरोना वैक्सीन को मंजूरी नहीं दी गई. लेकिन वैक्सीन की रेस में सबसे आगे हैं.

7 हजार से ज्यादा लोगों को टीकाकरण के लिए प्रशिक्षित किया गया है. Gujarat corona vaccine dry run

पहले चरण में अनुमानित 30 करोड़ लोगों का टीकाकरण किया जाएगा. जिसमें स्वास्थ्य सेवा, फ्रंटलाइन वर्कर और 50 वर्ष से अधिक आयु के लोग शामिल हैं.

जो किसी बीमारी से पीड़ित हैं. हेल्थकेयर वर्कर जिसमें डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ जैसे लोग हैं जो सरकारी या निजी अस्पतालों में काम करते हैं.

फ्रंटलाइन वर्कर यानी अर्धसैनिक बल, नगरपालिका कार्यकर्ता और राज्य पुलिस आदि को शामिल किया गया है. Gujarat corona vaccine dry run

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

सूरत कोरोना अपडेट: 7 दिनों के बाद रिकवरी रेट में वृद्धि, 165 मरीज डिस्चार्ज