Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात में शाह, ओवैसी और सिसोदिया, स्थानीय निकाय चुनाव के लिए जोर-आजमाइश

गुजरात में शाह, ओवैसी और सिसोदिया, स्थानीय निकाय चुनाव के लिए जोर-आजमाइश

0
308

Gujarat Corporation Elections: ऐसा लगता है कि आम आदमी पार्टी और एआईएमआईएम ने गुजरात में अपने पांव जमाने के लिए रणनीति तैयार कर ली है. यही वजह है कि एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया स्थानीय चुनावों से पहले ही अहमदाबाद का दौरा कर रहे हैं. Gujarat Corporation Elections

दूसरी ओर भाजपा के चाणक्य अमित शाह खुद अपने गढ़ को बचाने के लिए आज अहमदाबाद के दौरे पर हैं. कहा जा रहा है कि स्थानीय चुनाव के लिए टिकट वितरण से शाह के प्रशंसक संतुष्ठ नहीं है और यही वजह है कि गृह मंत्री अहमदाबाद पहुंचे हैं. Gujarat Corporation Elections

यह भी पढ़ें: चमोली में ग्लेशियर की तबाही: 150 लोगों के लापता होने की आशंका, पीएम बोले- स्थिति पर नजर

शाह गुट के नेताओं के बीच असंतोष की आग को बुझाने के लिए अमित शाह को रविवार, 7 फरवरी को अहमदाबाद आने के लिए भी कहा जाता है. सोमवार को वह क्षेत्र के नेताओं (भाजपा) और उनके समर्थकों के साथ बैठक करेंगे. Gujarat Corporation Elections

सिसोदिया-औवैसी ठोक रहे ताल

दूसरी ओर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया आम आदमी पार्टी के उम्मीदवारों के प्रचार के लिए राजकोट में 20 किमी का रोड शो करेंगे. अहमदाबाद नगर निगम चुनाव के लिए नामांकन भरने की अंतिम तिथि शनिवार को समाप्त हो गई है. शनिवार को ही दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया अहमदाबाद पहुंचे. Gujarat Corporation Elections

इसके अलावा, एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी स्थानीय निकाय चुनाव के लिए आज गुजरात के भरूच से अपने अभियान की शुरुआत करेंगे. Gujarat Corporation Elections

बता दें कि ओवैस की पार्टी एआईएमआईएम ने स्थानीय निकाय चुनावों में भी उम्मीदवार उतारे हैं. उल्लेखनीय है कि छोटूभाई वसावा की पार्टी BTP के साथ AIMIM ने गठबंधन किया है. छोटू वसावा के भाई महेश वसावा सूरत एयरपोर्ट पर ओवैसी का स्वागत करने पहुंचे. बीटीपी और एआईएमआईएम ने गठबंधन में स्थानीय निकाय चुनावों में अपने उम्मीदवार उतारे हैं. Gujarat Corporation Elections

बता दें कि गुजरात में स्थानीय चुनाव दो चरणों में आयोजित होंगे जिसके लिए उम्मीदवारों की घोषणा कर दी जा चुकी है. समझा जा रहा है कि भाजपा और कांग्रेस की लड़ाई में ओवैसी की पार्टी और अरविंद केजरीवाल की पार्टी अंतर पैदा कर सकती है.  Gujarat Corporation Elections

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें