Gujarat Exclusive > गुजरात > अपने वादे से मुकरी गुजरात सरकार, बिना गारंटी आत्मनिर्भर योजना के लिए नहीं मिलेगा लोन

अपने वादे से मुकरी गुजरात सरकार, बिना गारंटी आत्मनिर्भर योजना के लिए नहीं मिलेगा लोन

0
1888

कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर जारी तालाबंदी के बीच छोटे व्यापारियों, व्यवसायियों, निजी कारीगरों, श्रमिक वर्ग को व्यवसाय-रोजगार को फिर से पटरी पर लाने के उद्देश्य से आत्मनिर्भर गुजरात सहायता योजना के तहत एक लाख रुपए का ऋण की योजना गुजरात सरकार की ओर से शुरु की गई है. इस योजना के तहत एक लाख रुपए का ऋण 2 फीसदी के वार्षिक ब्याज से दिया जाएगा. यह ऋण करीब दस लाख लोगों को तीन वर्ष के लिए मिलेगा. यह ऋण बिना किसी गारंटी के दी जाएगी.

लेकिन अब गुजरात के उपमुख्‍यमंत्री व वित्तमंत्री नितिन पटेल ने कहा है कि आत्‍मनिर्भर योजना में सभी को लोन नहीं मिल सकता. बैंकों को अपने पैसों की चिंता होती है, इसलिए लोन के लिए दो गारंटर जरूरी है. मुख्‍यमंत्री विजय रूपाणी ने योजना की घोषणा के दौरान एक लाख तक का लोन बिना किसी गारंटी के देने की बात कही थी.

गुजरात के वित्‍तमंत्री नितिन पटेल ने दो टूक कहा कि बैंकों को भी अपने धन की चिंता होती है, इसलिए आवेदन करने वाले सभी लोगों को लोन नहीं मिल सकता, इसके लिए दो गारंटर देने होंगे. राज्य सरकार ने एक बार फिर से अपने वादे से मुकर गई है इसलिए इस योजना से लाभ उठाने का सपना देखने वाले लोगों को में मायूसी की झलक देखने को मिल रही है.

आत्मनिर्भर गुजरात सहायता योजना का आगाज, लोन लेने के लिए इन दस्तावेजों की होगी जरूरत