Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात स्वास्थ्य मंत्री की चेतावनी: ओमीक्रॉन को हल्के में ना लें, नियमों का सख्ती से करें पालन

गुजरात स्वास्थ्य मंत्री की चेतावनी: ओमीक्रॉन को हल्के में ना लें, नियमों का सख्ती से करें पालन

0
251

अहमदाबाद: गुजरात में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर राज्य सरकार चिंतित हो गई है. आज रिवरफ्रंट हाउस में एक बैठक का आयोजन किया गया था. जिसमें अस्पताल में बेड और दवाओं की संख्या पर चर्चा की गई. इस संबंध में स्वास्थ्य मंत्री ऋषिकेश पटेल ने प्रेस कॉफ्रेंस में कहा कि लोग गाइडलाइंस का ठीक से पालन करें. ओमाइक्रोन घातक नहीं है, लेकिन अत्यधिक संक्रामक है. राज्य तीसरी लहर की ओर बढ़ रहा है. शादियों, सामाजिक समारोहों में जाते समय लोगों को सावधान रहने की जरूरत है. कोरोना दिशानिर्देशों का पालन करना नागरिकों की जिम्मेदारी है.

स्वास्थ्य मंत्री ऋषिकेश पटेल ने प्रेस कॉफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि नए एसओपी पर निर्णय स्थिति के अनुसार लिया जाता है. प्रदेश में एक लाख से ज्यादा ऑक्सीजन बेड तैयार हैं. राज्य के हर जिले में ऑक्सीजन के लिए जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर को तैयार कर लिया गया है. यह सुनिश्चित करने का प्रयास किया जा रहा है कि कम से कम कुछ लोगों को ऑक्सीजन की जरूरत पड़े, स्वास्थ्य मंत्री ने आगे कहा कि राजनीतिक, धार्मिक, सामाजिक सभी को नियमों का पालन करना होगा.

प्रेस कॉफ्रेंस में लोगों को आगाह करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि लोग कोरोना को आम फ्लू न समझें. ओमीक्रॉन तेजी से फैलता है. इसलिए लोगों को सावधान रहने की जरूरत है. स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि जिन लोगों का टीकाकरण नहीं हुआ है, उनको जल्द से जल्द टीका लगवा लेना चाहिए. साथ ही कहा है कि मास्क और सामाजिक दूरी के नियमों का सख्ती से पालन करना होगा.

प्रेस कॉफ्रेंस में एक स्वास्थ्य विशेषज्ञ ने कहा कि ओमीक्रॉन किसी भी तरह की प्रतिरक्षा को नहीं रोक सकता. हाइब्रिड इम्युनिटी वाले भी इसकी चपेट में आने से नहीं बच सकते. कोरोना का नया वेरिएंट ओमीक्रॉन सभी को संक्रमित कर सकता है. इसे हल्के में नहीं लिया जा सकता है. चपेट में आने वाले लोगों को आईसीयू की भी जरूरत पड़ सकती है.

सूरत: लग्जरी बस में शॉर्ट सर्किट से लगी आग, जलकर महिला यात्री की मौत