Gujarat Exclusive > गुजरात > कोरोना का डर: गुजरात में 45% छात्रों ने छोड़ी JEE की परीक्षा

कोरोना का डर: गुजरात में 45% छात्रों ने छोड़ी JEE की परीक्षा

0
457

JEE Exam News: देश में जारी कोरोना वायरस के आतंक के बीच अब पेंडिंग पड़ी परीक्षाओं को पूरा करने पर ध्यान दिया जा रहा है. हालांकि देश के कई हिस्सों से परीक्षाओं का बहिष्कार हो रहा है. इस बीच खबर है कि कोरोना वायरस महामारी के बीच मंगलवार को शुरू हुई इंजीनियरिंग और फार्मेसी पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए होने वाली संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE) में गुजरात के 45 फीसदी छात्रों ने नहीं भाग लिया.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि JEE परीक्षा छोड़ने वाले छात्रों का प्रतिशत इसके पहले 25-30 प्रतिशत रहता था और फिलहाल इसमें 10-15 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

राज्य सरकार ने सोमवार को कहा था कि राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी द्वारा 1 से 6 सितंबर के बीच 13 जिलों के 32 केंद्रों में आयोजित की जा रही jJEE परीक्षा के लिए 38,167 छात्रों ने पंजीकरण कराया था.

JEE समन्वयक वीरेंद्र रावत ने क्या बताया JEE Exam News

गुजरात में JEE समन्वयक वीरेंद्र रावत ने कहा, ‘‘पहले दिन, 3,020 रजिस्टर्ड छात्रों में से, केवल 1664, यानी 55 प्रतिशत ही उपस्थित रहे, जबकि 1356 (45 प्रतिशत) परीक्षा में शामिल नहीं हुए. आम तौर पर, हर साल 25-30 प्रतिशत छात्र परीक्षा छोड़ देते हैं. इस साल यह आंकड़ा 10-15 से भी अधिक है.” JEE Exam News

सोमवार को गुजरात के शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा था कि प्रशासन कोविड-19 महामारी के मद्देनजर हर प्रकार सावधानी बरतने के बाद परीक्षा आयोजित करेगा.

यह भी पढ़ें: दिल्ली मेट्रो के लिए गाइडलाइन जारी, सुबह 7 से 11 और शाम को 4 से 8 मिलेगी सेवा

मालूम हो कि कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखकर JEE मेन्स और मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट के आयोजन को स्थगित करने की मांग की जा रही थी. इससे पहले उच्चतम न्यायालय ने परीक्षा स्थगित करने के संबंध में एक याचिका को खारिज कर दिया था और कहा था कि छात्रों के बहुमूल्य वर्ष को बर्बाद नहीं किया जा सकता.

विवादों के बीच शुरू हुई थी परीक्षा JEE Exam News

तमाम विवादों के बीच JEE परीक्षा शुरू हुई थी. परीक्षाखंड में जाने से पहले सभी का बॉडी टेम्परेचर चेक करने के साथ ही साथ तीन लेयर वाला नया मास्क भी दिया गया था.

इतना ही नहीं एंट्री प्वॉइंट पर ही छात्रों के हाथ सैनिटाइज करवाए गए थे ताकि परीक्षा को ज्यादा से ज्यादा सुरक्षित बनाया जा सके.

कोरोना संकटकाल में पूरे देश में इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश के लिए आज से जेईई-मुख्य परीक्षा का आगाज हो गया है. नेशनल टेस्ट एजेंसी 1 सितंबर से 6 सितंबर के बीच यह परीक्षा आयोजित कर रही है.

इस अहम परीक्षा में देश भर से कुल 8.58 लाख छात्र हिस्सा ले रहे हैं. कोरोना के बढ़ते आतंक के बीच होने वाली इस परीक्षा को लेकर विशेष सावधानी बरती जा रही है.

छात्रों कोरोना से बचाना नेशनल टेस्ट एजेंसी के सामने एक बड़ी चुनौती है. इसलिए परीक्षा केंद्रों पर सुरक्षा के साथ ही साथ बचाव के कड़े इंतजाम किए गए हैं.

इतना ही नहीं सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन हो सके और छात्रों को तालाबंदी के इस दौर में लंबा सफर ना तय करना पड़े इसलिए परीक्षा की शिफ्ट को 8 से बढ़ाकर 12 कर दिया गया था.

वहीं परीक्षा केंद्र की संख्या 570 से बढ़ाकर 660 कर दी गई है.

गुजरात में बढ़ रहे कोरोना के मामले JEE Exam News

वहीं गुजरात में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. गुजरात में कोरोना वायरस (Covid-19) के सबसे ज्यादा 1,310 नए मामले सामने आए. इसके साथ ही राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 97,745 हो गई.

वहीं प्रदेश में कोरोना (Covid-19) से मरने वालों की संख्या में भी लगातार बढ़ोतरी हो रही है. अब तक राज्य में कोरोना के कारण 3,036 लोगों की मौत हो चुकी है.

लगातार नए मामले आने के कारण राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है. कुछ दिन पहले तक 14 हजार के करीब सक्रिय मामले थे लेकिन अब राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या 16 हजार के करीब पहुंच चुकी है. वर्तमान में राज्य में 15,796 सक्रिय मामले हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें