Gujarat Exclusive > गुजरात > IMA अध्यक्ष का सुझाव 14 दिनों का लॉकडाउन, गुजरात में बेकाबू कोरोना की चैन तोड़ने का एकमात्र विकल्प

IMA अध्यक्ष का सुझाव 14 दिनों का लॉकडाउन, गुजरात में बेकाबू कोरोना की चैन तोड़ने का एकमात्र विकल्प

0
695

राजकोट: कोरोना वायरस की दूसरी लहर गुजरात में घातक साबित हो रही है. कोरोना का नया स्ट्रैन तेजी से फैल रहा है. दैनिक दर्ज होने वाले नए मामले हर दिन पुराने रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं.

पिछले 24 घंटों में गुजरात में 6021 नए मामले सामने आए हैं. जबकि इस दौरान 55 मरीजों की मौत दर्ज की गई. Gujarat Lockdown is the only option

इन तमाम स्थितियों को देखकर राजकोट आईएमए के अध्यक्ष डॉ. प्रफुल्ल कमाणी ने राज्य में लॉकडाउन लागू करने की सिफारिश की है.

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के राजकोट चैप्टर के अध्यक्ष का सुझाव Gujarat Lockdown is the only option

इस सिलसिले में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन राजकोट चैप्टर के अध्यक्ष डॉ. प्रफुल्ल कमाणी ने जानकारी देते हुए कहा कि कोरोना की दूसरी लहर तेजी से फैल रही है.

जिससे बच्चे, युवा और वयस्क संक्रमित हो रहे हैं. कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के कारण अस्पताल में बेड कम पड़ रहे हैं. परिणामस्वरूप, गंभीर रोगी समय पर और उचित उपचार से वंचित हो रहे हैं.

4 दिनों का लॉकडाउन एकमात्र विकल्प Gujarat Lockdown is the only option

कोरोना की दूसरी लहर से सिर्फ दैनिक मामलों में नहीं बल्कि मृतकों के आंकड़े में भी भारी वृद्धि दर्ज की जा रही है. कोरोना की वजह से मरने वाले ज्यादातर संक्रमित फेफड़े की परेशानी से दो-चार हो रहे हैं.

इसके अलावा ऑक्सीजन की कमी और सांस लेने में कठिनाई के कारण मरीजों की मौत हो रही है. Gujarat Lockdown is the only option

डॉ. प्रफुल्ल कमाणी ने आगे कहा कि कोरोना वायरस की चैन तोड़ने में कम से कम 14 दिन लगते हैं. इसलिए कोरोना पर काबू के लिए कम से कम 14 दिनों का लॉकडाउन एकमात्र विकल्प है.

गुजरात में कोरोना की स्थिति Gujarat Lockdown is the only option

गुजरात स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक राज्य में बीते 24 घंटों में कोरोना के रिकॉर्ड 6 हजार 21 नए मामले दर्ज हुए. वहीं इस दौरान 55 लोगों की मौत दर्ज की गई.

जबकि इस दौरान 2 हजार से ज्यादा लोग कोरोना को मात देने में कामयाब हुए. आज दर्ज होने वाले नए मामलों के बाद राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3 लाख 17 हजार 981 हो गई है.

कोरोना की वजह से अहमदाबाद और सूरत की स्थिति हर दिन खराब होती जा रही है. Gujarat Lockdown is the only option

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अहमदाबाद एयरपोर्ट पर अडानी की खुली लूट, टैक्सी ड्राइवर से वसूला 7 हजार रुपये का जुर्माना