Gujarat Exclusive > गुजरात > किसानों के समर्थन में कल राजकोट और गोंडल में मार्केटिंग यार्ड रहेंगे बंद

किसानों के समर्थन में कल राजकोट और गोंडल में मार्केटिंग यार्ड रहेंगे बंद

0
433

राजकोट: राजधानी दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर किसान कृषि कानून को रद्द करने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. किसानों का विरोध प्रदर्शन 12 वें दिन भी जारी है.

इस बीच किसान संगठनों ने विरोध प्रदर्शन को देशव्यापी बनाने के लिए कल भारत बंद का आह्वान किया है. किसानों के भारत बंद को राजनीतिक दलों सहित कई अन्य संगठनों का समर्थन मिल रहा है.

किसानों के भारत बंद को गुजरात में भी समर्थन मिल रहा है. वडोदरा के बाद, अब राजकोट मार्केटिंग यार्ड ने किसानों को समर्थन देने की घोषणा की है.

राजकोट-गोंडल मार्केटिंग यार्ड बंद रहेगा Gujarat marketing yard closed

केंद्र सरकार के नए कृषि कानून को निरस्त करने की मांग को लेकर पिछले 12 दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों ने 8 दिसंबर को देशव्यापी बंद का ऐलान किया है.

गोंडल और राजकोट मार्केटिंग यार्ड ने किसानों के भारत बंद का समर्थन किया है. दोनों मार्केटिंग यार्ड कल बंद रहेंगे. इसकी घोषणा यार्ड के ब्रोकरेज बोर्ड ने की है.

वडोदरा के व्यापारियों का किसानों को समर्थन Gujarat marketing yard closed

किसान मोदी सरकार के द्वारा लागू किए गए तीन नए कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग कर रहे हैं. केंद्र सरकार इस मुद्दे पर बीच का रास्ता निकालने की कोशिश कर रही है.

अबतक किसान और सरकार के बीच पांच दौर की बातचीत हो चुकी है. लेकिन अभी तक कोई हल नहीं निकल पाया है. किसान और सरकार की 9 दिसंबर को फिर बैठक होने वाली है.

इससे पहले किसानों ने 8 तारीख यानी कल भारत बंद का ऐलान किया है. Gujarat marketing yard closed

गुजरात के किसान दिल्ली के लिए होंगे रवाना Gujarat marketing yard closed

रविवार को अहमदाबाद में किसान संगठनों की एक बैठक हुई. इस बैठक में गुजरात के किसानों ने दिल्ली में चलने वाले किसान आंदोलन का पूर्ण समर्थन किया.

इतना ही नहीं इस बैठक में तीनों किसान विरोधी कानूनों को निरस्त करने के लिए एक प्रस्ताव भी पारित किया गया. गुजरात किसान समाज के अध्यक्ष जयेश पटेल, गुजरात किसान सभा के डाहाभाई गजेरा और गुजरात किसान संघर्ष समिति के समन्वयक आनंद याग्निक की उपस्थिति में निर्णय लिया गया. Gujarat marketing yard closed

बैठक में फैसला लिया गया कि 10 दिसंबर को जिला स्तर पर प्रदर्शन किया जाएगा. उसके बाद 11 दिसंबर को गांधीनगर के सत्याग्रह छावनी में किसान संसद नामक प्रोग्राम किया जाएगा.

उसके बाद 12 दिसंबर के बाद आंदोलन में शामिल होने के लिए गुजरात से मार्च निकाला जाएगा. Gujarat marketing yard closed

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अहमदाबाद पुलिस की हिरासत से आरोपी फरार, कोरोना टेस्ट प्रक्रिया बना सिरदर्द