Gujarat Exclusive > गुजरात > सरदार सरोवर नर्मदा बांध से छोड़ा गया 8 लाख क्यूसेक पानी, लोगों का स्थानांतरण

सरदार सरोवर नर्मदा बांध से छोड़ा गया 8 लाख क्यूसेक पानी, लोगों का स्थानांतरण

0
937
  • Sardar Sarovar Dam (सरदार सरोवर नर्मदा बांध) से छोड़ा गया  पानी
  • केवडिया के निचले इलाकों में पानी भरने से लोगों को खाली करना पड़ा घर
  • गोल्डन ब्रिज में पानी का स्तर खतरे से सिर्फ 1 फुट नीचे
  • अगले दो दिनों तक भारी बारिश का पूर्वानुमान
  • निचले इलाकों में रहने वाले लोगों का स्थानांतरण जारी

विशाल मिस्त्री राजपिपणा: नर्मदा जिले के सरदार सरोवर बांध (Sardar Sarovar Dam )में इंदिरा सागर और ओंकारेश्वर बांध से 10,16,533 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है. सरदार सरोवर बांध की सतह 131.04 मीटर आज सुबह दर्ज की गई.

जिसकी वजह से सरदार सरोवर बांध से पानी निकालने के लिए बांध के 23 गेट 3.13 मीटर खोले गए है. जिसकी वजह से 8 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है.

बांध में पानी बढ़ने की वजह से छोड़ा गया पानी

इस वक्त बांध में 7,216 मिलियन क्यूसेक पानी का सकल भंडारण था, जिसमें से 3,516 मिलियन क्यूबिक मीटर का लाइव भंडारण दर्ज किया गया था. 29/8/2020 को शाम 5 बजे बांध की सतह 131.13 मीटर थी, पानी का प्रवाह 469870 क्यूसेक था जबकि कुल बहिर्वाह 5146,000 क्यूसेक था. जबकि शाम 6 बजे सतह 131.06 मीटर बांध का जल प्रवाह 357192 क्यूसेक था.

रात 10 बजे, बांध की सतह की स्थिति 130.76 मीटर थी. बांध में पानी की आवक 647286 क्यूसेक थी और बहिर्वाह 716454 क्यूसेक था. 30/8/2020 को सुबह 5 बजे बांध की सतह 130.90 मीटर जल प्रवाह 972270 क्यूसेक और बहिर्वाह 814599 क्यूसेक था, जबकि सुबह 7 बजे बांध के सतह की स्थिति 131.04 मीटर जल प्रवाह 1016533 क्यूसेक और बहिर्वाह 813836 मिलियन दर्ज की गई.

यह भी पढ़ें: अहमदाबाद आधी रात को बड़ा हादसा, इमारत धराशाई होने से 1 की मौत 2 घायल

फिलहाल रिवरबेड पावर हाउस की पांच इकाइयाँ चालू हैं. जिससे 1000 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता है.

इसके अलावा कैनाल हेड पावर हाउस में 3 इकाइयां चल रही हैं जिससे 150 मेगावाट बिजली पैदा हो रही है, जिसके कारण 47000 क्यूसेक पानी मुख्य नहर की ओर बह रहा है.

सरदार सरोवर नर्मदा बांध में फिलहाल प्रतिदिन 5 करोड़ रुपये की बिजली पैदा किया जा रहा है.

3 तहसीलों के 2030 लोगों को किया गया स्थानांतरित

सरदार सरोवर नर्मदा बांध (Sardar Sarovar Dam )में पानी की अधिकता के कारण, बांध के 23 द्वार खोल दिए गए हैं. भरुच जिले के 3 तहसीलों के 2030 लोगों को स्थानांतरित किया जा रहा है.

दूसरी ओर, केवडिया के निचले इलाके में पानी जमा होने की वजह से लोगों को आधी रात को अपने घरों से बाहर निकलना पड़ा.

नर्मदा बांध में पानी की आवक बढ़ने से तटीय इलाका चाणोद का मल्हारराव घाट जलमग्न हो गया है.

अगले दो दिनों में भारी बारिश की चेतावनी

गुजरात मौसम विभाग ने दक्षिण गुजरात और सौराष्ट्र में दो दिनों की भारी बारिश की चेतावनी दी है. सूरत, नवसारी, वलसाड, दादरनगर हवेली, भरूच सहित दक्षिण गुजरात के कई शहरों में बारिश का अनुमान है.

सौराष्ट्र के भावनगर, अमरेली, राजकोट, जूनागढ़, मोरबी सहित स्थानों में भारी बारिश होगी. जबकि उत्तर गुजरात, अरावली, बनासकांठा और मेहसाणा में भी भारी से अतिभारी बारिश का अनुमान लगाया गया है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

धमण-3 वेंटिलेटर पर लगे आरोपों का कंपनी के मालिक ने किया खंडन