Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात के कई जिलों में ऑक्सीजन की कमी, भगवान भरोसे मरीज

गुजरात के कई जिलों में ऑक्सीजन की कमी, भगवान भरोसे मरीज

0
301

गांधीनगर: घातक कोरोना वायरस की दूसरी लहर गुजरात में हाहाकार मचा रखी है. राज्य में रोजाना दर्ज होने वाले कोरोना के नए मामलों की संख्या हर दिन पुराने रिकॉर्ड को तोड़ नया रिकॉर्ड बना रही है.

कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या ने राज्य के स्वास्थ्य सुविधा की पोल खोल दी है. Gujarat oxygen deficiency

राज्य के कई जिलों में बेड, ऑक्सीजन और इंजेक्शन की कमी की वजह से कोरोना मरीजों की मौत दर्ज की जा रही है.

कोरोना की वजह से गुजरात की स्थिति खराब Gujarat oxygen deficiency

गुजरात ही नहीं बल्कि पूरा देश इस समय ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहा है. अगर हम वडोदरा की बात करें तो यहाँ प्रतिदिन 160 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की खपत हो रही है.

वडोदरा में कोरोना के तेजी से प्रसार के बाद शहर के गोत्री और सयाजी अस्पताल में रोगियों की संख्या लगातार बढ़ रही है. Gujarat oxygen deficiency

जिसकी वजह से लगातार ऑक्सीजन की मांग बढ़ती जा रही है.

ज्यादातर जिलों में बढ़ी ऑक्सीजन की मांग Gujarat oxygen deficiency

सूरत में भी स्थिति ऐसी ही है. सामान्य दिनों में सूरत को केवल 10 टन ऑक्सीजन की आवश्यकता थी. जो इन दिनों कोरोना की स्थिति की वजह से बढ़कर 250 टन तक पहुंच गई है.

सूरत में ऑक्सीजन की मांग बढ़ने पर जामनगर से 16 टन ऑक्सीजन मंगवाई गई है.

इतना ही नहीं शहर में ऑक्सीजन के इस्तेमाल के लिए एक विशेष ऑडिट कमेटी बनाई गई है. Gujarat oxygen deficiency

कोरोना की चपेट में आकर होम आईसोलेशन में रहने वाले कोरोना संक्रमितों की हालत बदतर हो गई है. ऐसे मरीजों को समय पर ऑक्सीजन या जरूरी दवाएं नहीं मिल रही हैं.

स्वैच्छिक संगठनों द्वारा नि: शुल्क ऑक्सीजन की बोतलें प्रदान की जा रही हैं. लेकिन मरीजों के रिश्तेदारों को फ्लोमीटर की कमी से परेशान होना पड़ रहा है.

राजकोट, भावनगर, जामनगर और गिर-सोमनाथ सहित सौराष्ट्र के कई जिले भी ऑक्सीजन की समस्या से मरीज जूझ रहे हैं. Gujarat oxygen deficiency

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

बनासकांठा में ऑक्सीजन की कमी से 8 मरीजों की मौत