Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात में 14 से 16 अक्टूबर के बीच एक बार फिर बारिश की एंट्री: मौसम विभाग

गुजरात में 14 से 16 अक्टूबर के बीच एक बार फिर बारिश की एंट्री: मौसम विभाग

0
546
  • गुजरात में मानसून सीजन की विदाई से पहले एक बार फिर होगी एंट्री
  • मौसम विभाग का पूर्वानुमान 14 से 16 अक्टूबर से बीच होगी बारिश
  • बारिश की वापसी से किसानों की फसल नुकसान होने की उम्मीद

अहमदाबाद: गुजरात से मानसून विदाई ले चुका है और धीरे-धीरे ठंडी दस्तक दे रहा है. ऐसे में मौसम विभाग ने गुजरात में एक बार फिर से बारिश की उम्मीद जताई है.

मौसम विभाग के अनुसार 14 से 16 अक्टूबर के बीच दक्षिण गुजरात, सौराष्ट्र में गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान लगाया है.

महाराष्ट्र और गुजरात के बीच लो प्रेशर उत्पन्न होने की वजह से एक बार गुजरात में बारिश की एंट्री हो सकती है.

विदाई से पहले एक बार फिर होगी बारिश की एंट्री

गुजरात में इन दिनों उत्तर से उत्तर-पूर्व दिशा में हवा चल रही है. मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार, 14 अक्टूबर को वलसाड, दमण और दादर नगर हवेली और 15 अक्टूबर को भावनगर, अमरेली और 16 अक्टूबर को सूरत, तापी, नवसारी, डांग, भावनगर, अमरेली में 40 किलो मीटर की रफ्तार के हवा चलने के साथ ही साथ हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है.

यह भी पढ़ें: अशांत धारा कानून पर लगी राष्ट्रपति की मुहर, उल्लंघन करने पर होगी सजा

14 से 16 अक्टूबर के बीच बारिश का पूर्वानुमान

गुजरात के सौराष्ट्र और उत्तर गुजरात से मानसून विदाई ले चुका है. जबकि दक्षिण गुजरात से मॉनसून धीरे-धीरे विदाई लेने की तैयारी में है.

ऐसे में मौसम विभाग ने गुजरात में 14 से 16 अक्टूबर के बीच एक बार फिर से सामान्य बारिश होने का अनुमान लगाया है. गुजरात के लोग बीते कुछ दिनों से भयंकर गर्मी से परेशान हैं.

अगर गुजरात में आने वाले दिनों में बारिश होती है तो लोगों को यकीनन भयंकर गर्मी से राहत मिलेगी.

उल्लेखनीय है कि गुजरात में इस सीजन में अब तक 135 प्रतिशत से अधिक बारिश दर्ज की गई है.

ऐसे में मौसम विभाग ने राज्य से पूर्ण मानसून विदाई से पहले दक्षिण गुजरात के कुछ हिस्सों में एक बार फिर से सामान्य बारिश की संभावना जताई है.

हालांकि अगर एक बार फिर से गुजरात में बारिश की वापसी होती है तो किसानों को भारी पैमाने पर खेती में नुकशान होने की उम्मीद जताई जा रही है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

महाराष्ट्र में मंदिरों का कपाट खोलने की मांग को लेकर बीजेपी का विरोध प्रदर्शन