Gujarat Exclusive > गुजरात > सौराष्ट्र में बढ़ा कोरोना संक्रमण, बीते 24 घंटों में मिले 1451 नए पॉजिटिव केस

सौराष्ट्र में बढ़ा कोरोना संक्रमण, बीते 24 घंटों में मिले 1451 नए पॉजिटिव केस

0
250

राजकोट: गुजरात सहित पूरे देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर हाहाकार मचा रखी है. गुजरात में भी कोरोना संक्रमितों की संख्या में खतरनाक रूप से वृद्धि दर्ज की जा रही है.

सौराष्ट्र में हर दिन कोरोना के नए मामले पुराने रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं. सौराष्ट्र में सोमवार को 1270 नए मामले और 133 की मौत दर्ज की गई थी. Gujarat rural corona knock

मंगलवार को बड़ा उछाल दर्ज हुआ पूरे सौराष्ट्र में 1451 नए मामले दर्ज हुए जबकि इस दौरान 143 लोगों की मौत दर्ज की गई.

शहरों के बाद ग्रामीण इलाकों में बढ़ा खतरा

नए मामलों में राजकोट शहर में 529 और ग्रामीण इलाकों में 87 सकारात्मक केस को मिलाकर राजकोट में 616 नए मामले दर्ज हुए थे. Gujarat rural corona knock

इसके अलावा एसटी बस में 37 यात्रियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. दैनिक मामलो में दर्ज की जाने वाली भारी वृद्धि के बाद पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 4.34 प्रतिशत हो गई है.

राजकोट निगम के अनुसार, 3273 कोरोना संक्रमितों का इलाज चल रहा है.

सरकारी रिकॉर्ड से ज्यादा की मौत  Gujarat rural corona knock

मोरबी में राजकोट के अलावा 65 नए मामले सामने आए हैं. मोरबी में एक भी आधिकारिक मौत नहीं दिखाई गई है. लेकिन कोविड प्रोटोकॉल के अनुसार 13 शवों का अंतिम संस्कार किया गया है.

जबकि जामनगर में एक ही दिन में सरकारी जी.जी. होस्पीटल में कोरोना के कारण 55 मरीजों की मौत दर्ज की गई. Gujarat rural corona knock

जामनगर जिले में 300 से ज्यादा नए मामले पिछले तीन दिनों से दर्ज हो रहे हैं. शहरों के बाद ग्रामीण इलाकों में कोरोना के दस्तक के बाद सरकार हरकत में आ गई है.

गुजरात में कोरोना के बढ़ते आतंक का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कोरोना शहरों के बाद ग्रामीण इलाकों में भी हाहाकार मचा दिया है. अमरेली में 98, भरूच में 87, ग्रामीण राजकोट में 87, भावनगर शहर में 81, आणंद में 68, जूनागढ़ शहर में 65, मोरबी में 65, पंचमहल में 61, दाहोद और कच्छ में 58-58, गांधीनगर में 56, सुरेंद्रनगर में 55 और गांधीनगर नगर निगम में 54 नए मामले बीते 24 घंटों में दर्ज हुए हैं. Gujarat rural corona knock

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

IMPACT: AMC द्वारा निजी कोविड नामित अस्पतालों के 20 फीसदी बेड मरीजों के लिए आरक्षित