Gujarat Exclusive > गुजरात > कोरोना का प्रभाव: राजकोट, सूरत, खेड़ब्रह्मा , जूनागढ़ में स्वैच्छिक तालाबंदी का ऐलान

कोरोना का प्रभाव: राजकोट, सूरत, खेड़ब्रह्मा , जूनागढ़ में स्वैच्छिक तालाबंदी का ऐलान

0
1026
  • gujarat voluntary lockout news
  • गुजरात में जारी है कोरोना का कहर
  • लगातार बढ़ रहे मामलों के बाद चार शहरों में महत्वपूर्ण निर्णय
  • कोरोना पर काबू पाने के लिए राजकोट, खेड़ब्रह्मा और जूनागढ़ में स्वैच्छिक तालाबंदी का ऐलान

राजकोट: गुजरात में बीते कुछ दिनों से 1300 से ज्यादा नए मामले एक दिन में दर्ज किए जा रहे हैं. राज्य सरकार कोरोना के बढ़ते कहर पर काबू पाने के लिए तमाम कोशिशें कर रही है. gujarat voluntary lockout news

बावजूद इसके कोरोना पर काबू नहीं पाया जा सका. इसलिए अब खुद लोग कोरोना के कहर पर काबू पाने के लिए अपनी तरफ से कोशिशें कर रहे हैं.

इसीलिए अब लोग कोरोना पर काबू पाने के लिए स्वैच्छिक तालाबंदी का ऐलान किया है. जिसके तहत राजकोट, खेड़ब्रह्मा और जूनागढ़ को बंद रखने का फैसला किया गया है.

इन तीन शहरों में लिया गया स्वैच्छिक फैसला gujarat voluntary lockout news

राजकोट, खेड़ब्रह्मा और जूनागढ़ के व्यापारियों ने स्वैच्छिक तालाबंदी का ऐलान किया है. व्यापारियों ने 14 से 21 सितंबर तक बाजारों को बंद करने का फैसला किया है.

राजकोट के सोनी बाज़ार में एक सप्ताह का स्वैच्छिक बंद का ऐलान किया गया. राजकोट सोनी बाजार अगले 19 सितंबर तक पूरी तरह से बंद रहेगा.

दूसरी ओर जूनागढ़ के माणावदर के कोयलाणा में भी स्वैच्छिक बंद रखने का फैसला किया गया है.

पहले की तरह आवश्यक सामान को खरीदने की मिलेगी छूट gujarat voluntary lockout news

इन चारों शहरों की बात करें तो खेड़ब्रह्मा शहर और तहसील में कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से अगले एक सप्ताह तक स्वैच्छिक बंद रखने का फैसला किया है. gujarat-voluntary-lockout-news

जिसके तहत सिर्फ आवश्यक सामान खरीदने के लिए सुबह 8 से 11 बजे तक खुला रहेगा. इसके लिए नगरपालिका ने शहर में अगले आठ दिनों तक शहर को बंद रखना की अपील की गई है.

हालांकि इस बीच दूध पार्लर, मेडिकल स्टोर, अस्पताल के साथ-साथ सरकारी कार्यालय खुले रहेंगे. खेड़ब्रह्मा के लोग कह रहे हैं कि अब बंद होने का समय आ गया है. इसलिए खेड़ब्रह्मा नगर पालिका ने विभिन्न व्यापार संघों के इस निर्णय का समर्थन किया है.

यह भी पढ़ें: पिता के हैवान दोस्त ने युवती के मंगेतर से कहा, तुम्हारी मंगेतर का मेरे साथ हैं शारीरिक संबंध

राजकोट दानपीठ के व्यापारियों ने भी आधे दिन की स्वैच्छिक तालाबंदी की घोषणा की है क्योंकि कोरोना के नए मामलों में लगातार वृद्धि दर्ज की जारी है. सोमवार यानी आज से सुबह 8 से दोपहर 3 बजे तक ही दुकानें खुली रहेंगी.

ऐसे में अगर स्थिति नियंत्रण में आ जाएगी तो 20 सितंबर से दुकानें पहले की तरह खोल दी जाएंगी. राजकोट दानापीठ के व्यापारियों ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह निर्णय लिया है.

सोनी बाजार एसोसिएशन द्वारा स्वैच्छिक तालाबंदी का निर्णय लिया गया है. दानापीठ में लगातार 7 दिन तक तालाबंदी रहेगी. gujarat voluntary lockout news

उल्लेखनीय है कि राजकोट में 35 ज्वैलर्स की मौत के बाद शनिवार से सोनी मार्केट में तालाबंदी की स्थिति पैदा हो गई है. दूसरी ओर, जूनागढ़ के माणावदर में भी स्वैच्छिक बंद का फैसला किया गया है.

इसके अलावा सूरत के मांगरोल तहसील में 12 सितंबर से 12 दिनों के तालाबंदी की घोषणा की गई है. कोरोना के मामलों की बढ़ती संख्या के कारण ग्राम पंचायत ने यह निर्णय लिया है.

इस बीच मांगरोल के बाजार सुबह 7 से 11 बजे तक खुले रहेंगे. लेकिन चिकित्सा और दूध पार्लर जैसी आवश्यक सेवाएं पहले की तरह खुली रहेंगी.

मांगरोल के मुस्लिम समुदाय के लोगों ने भी मुख्य जुमा मस्जिद को भी बंद करने का फैसला लिया गया है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कोरोना संकट के बीच गुजरात सरकार ने स्कूलों को खोलने को लेकर किया बड़ा फैसला