Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात में लॉकडाउन लगाने से गरीबों की रोजी-रोटी छिन जाएगी: CM रूपाणी

गुजरात में लॉकडाउन लगाने से गरीबों की रोजी-रोटी छिन जाएगी: CM रूपाणी

0
612

गांधीनगर: गुजरात में कोरोना के बढ़ते कहर के बीच जहां एक तरफ अहमदाबाद में नगर निगम की टीम बिना ऐलान के पानी की दुकानों को बंद करवा रही है.

वहीं दूसरी तरफ राज्य के मुख्यमंत्री दावा कर रहे हैं कि लॉकडाउन लागू नहीं किया जाएगा. Gujarat will not face lockdown

क्योंकि हमारी सरकार गरीबों के हालात को जानती है अगर लॉकडाउन लगेगा तो उससे गरीबों की रोजी-रोटी छिन जाएगी. इसीलिए काफी पहले से ही हमारी सरकार लॉकडाउन लगाने के पक्ष में नहीं है.

लॉकडाउन के पक्ष में नहीं हमारी सरकार Gujarat will not face lockdown

गुजरात में बीते कुछ दिनों से 4 हजार से ज्यादा कोरोना के नए मामले दर्ज हो रहे हैं. दैनिक मामलों में दर्ज की जाने वाली वृद्धि के बाद लोगों में भय का माहौल पैदा हो गया है.

इस बीच मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि राज्य सरकार फिलहाल लॉकडाउन लागू करने की कोई योजना नहीं बना रही. हम लॉकडाउन की दिशा में नहीं जा रहे हैं.

इस मौके पर सीएम ने कहा कि कई जगहों पर लोग स्वैच्छिक लॉकडाउन का फैसला कर रहे हैं. Gujarat will not face lockdown

हमारी सरकार इस फैसले का स्वागत करती है. क्योंकि ऐसा करने से कोरोना की चैन तोड़ा जा सकता है.

स्वैच्छिक लॉकडाउन के फैसले का सीएम ने किया स्वागत Gujarat will not face lockdown

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि चार महानगरों में संक्रमण तेजी से फैल रहा है. ऐसे में जरूरी हो जाता है कि लोग बिना वजह अपने घर से बाहर ना निकलें और कोरोना नियमों का पालन करें.

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने जोर देकर कहा कि राज्य सरकार लॉकडाउन को लागू करने का कोई विचार नहीं है. Gujarat will not face lockdown

राज्य सरकार स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने और मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है.

गुजरात में लॉकडाउन की वजह लोग बेरोजगार हो गए Gujarat will not face lockdown

गुजरात में पिछले साल कोरोना मामलों में वृद्धि की वजह से लॉकडाउन लगा दिया गया था. गुजरात में लागू होने वाली लॉकडाउन की वजह से सबसे ज्यादा प्रवासी मजदूर प्रभावित हुए थे.

इतना ही नहीं हजारों की संख्या में लोग बेरोजगार हो गए थे. उत्तर प्रदेश और बिहार जैसे राज्यों से बड़ी संख्या में लोग गुजरात में रोजगार के लिए आते हैं.

पिछले साल तालाबंदी की वजह से प्रवासी मजदूर अपने परिवार के साथ घर लौट गए थे. Gujarat will not face lockdown

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

गांधीनगर मनपा चुनाव स्थगित, कोरोना की वजह से आयोग ने लिया फैसला