Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात का विकास मॉडल हुआ ज्यादा विकसित, अब मास्टर कीड़ा ( टिड्डी ) उड़ाएंगे

गुजरात का विकास मॉडल हुआ ज्यादा विकसित, अब मास्टर कीड़ा ( टिड्डी ) उड़ाएंगे

0
391

उत्तर गुजरात के किसान इन दिनों टिड्डियों के आतंक से परेशान हैं. ऐसे में जहां किसान हेलीकॉप्टर से कीटनाशक दवाओं का छिड़काव करवाने की गुजरात सरकार से मांग कर रहे हैं वहीं सरकार ने अब एक तुगलकी फरमान जारी करते शिक्षको को टिड्डियों को भगाने का एक ओर काम सौंप दिया है.

वैसे तो स्थानिक किसान अलग-अलग तरीके से इन टिड्डियों को भगाने की कोशिश कर रहे हैं बनासाकांठा जिला के टीडिओ ने शिक्षको को ढोल नगाड़ा के साथ खेतों में निकलने का आदेश दिया है, ऐसे में सवाल ये उठता है शिक्षक जब कीड़ों को भगाने की कोशिश करेंगे तब शिक्षा हासिल करने आने वाले बच्चों को पढ़ाएगा कौन?

टिड्डी नियंत्रण विभाग वैसे तो काम कर ही रही है बावजूद इसके जब सरकार को इस तरफ ध्यान देना था तब दिया नहीं इसलिए अब शिक्षको को टिड्डियों को भगाने का एक ओर काम करना पड़ेगा. जहां सरकार शिक्षको पर एक नई जिम्मेदारी थोप दिया है वहीं कांग्रेस के प्रवक्ता मनीष दोशी ने सरकार पर हमला बोलते हुए तुगलकी फरमान बताया.

उत्तर गुजरात बनासकांठा जिला के 7 तहसील के 46 से ज्यादा गांव में रहने वाले किसान इन दिनों टिड्डियों की आतंक से परेशान नजर आ रहे हैं. जिला टिड्डी नियंत्रण विभाग और कृषि विभाग की 18 टीमें जिला के वाव, सुईगांव, भाभर, लाखणी, दियोदर, डीसा, थराद तहसील में काम कर रहे हैं. टीम फिलहाल 2325 हेक्टेयर क्षेत्र का सर्व कर करीब 505 हेक्टेयर क्षेत्र में कीटनाशक दवा का छिड़काव कर चुकी है. ऐसे में सवाल ये उठता है कि बच्चों का भविष्य संवारने वाले शिक्षको को ऐसे काम में सरकार क्यों लगा रही है जिससे बच्चों का भविष्य खराब होने की उम्मीद जताई जा रही है.