Gujarat Exclusive > राजनीति > गुलाम नबी आजाद का तंज, अगर 50 वर्षों तक विपक्ष में बैठना है तो मत कराओ चुनाव

गुलाम नबी आजाद का तंज, अगर 50 वर्षों तक विपक्ष में बैठना है तो मत कराओ चुनाव

0
841
  • पार्टी में बड़े बदलाव की मांग को लेकर सोनिया गांधी को खत
  • खत लिखने वालों में शामिल आजाद ने कांग्रेस पर कसा तंज
  • अगर पार्टी चुनाव नहीं कराएगी तो अगले 50 सालों तक विपक्ष में बैठेगी  

कांग्रेस में नेतृत्व परिवर्तन की मांग को लेकर बीते दिनों कांग्रेस के 23 वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखा था. इस पत्र को लेकर CWC बैठक में जमकर हंगामा हुआ था.

इस बैठक में कांग्रेस और पार्टी को नसीहत देने वाले नेता आमने-सामने हो गए थे. कांग्रेस जहां नाराज नेताओं को मनाने की कोशिश कर रही है.

वहीं दूसरी तरफ आरोप लगने के बाद पार्टी के राज्यसभा सदस्य और वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कांग्रेस को बड़ी नसीहत देते हुए कहा कि अगर अध्यक्ष पद के लिए पार्टी में चुनाव नहीं होता तो पार्टी अगले 50 सालों तक विपक्ष में बैठी रहेगी.

कांग्रेस की भलाई चाहने वाले लोग खत का करेंगे स्वागत: gulam-nabi-aajad-news

उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत करते हुए कहा कि “जो लोग खत लिखे जाने के मामले का विरोध कर रहे हैं. उन्हें मालूम है कि चुनाव होने पर वे कहीं नहीं होंगे.

इतना ही नहीं उन्होंने ने इशारों-इशारों में हमला करते हुए कहा कि जो लोग कांग्रेस की भलाई चाहते हैं वह पत्र का स्वागत करेंगे.

आजाद ने कहा,”जब आप चुनाव लड़कर अध्यक्ष पद को संभालते हैं तो कम से कम 51 प्रतिशत आपके साथ होते हैं और आप पार्टी के भीतर केवल 2 से 3 लोगों के खिलाफ चुनाव लड़ते हैं.

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी के आरोपों से भड़के गुलाम नबी आजाद ने की इस्तीफे की पेशकश

अगर चुनाव नहीं हुआ तो पार्टी 50 सालों तक विपक्ष में बैठी रहेगी

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि “मैं पिछले 34 सालों से CWC में हूं. जिनको कुछ भी नहीं मालूम और अप्वाइंटमेंट वाला कार्ड मिल गया वह लोग आज विरोध कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि अगर पार्टी अध्यक्ष चुनने के लिए चुनाव नहीं कराती तो कांग्रेस को 50 वर्षों तक विपक्ष में बैठना पड़ेगा.

चुनाव करने या नहीं कराने से मेरा कोई रिश्ता नहीं है मेरा रिश्ता गांधी परिवार से पारिवारिक है.

क्या अनुशासनहीनता करने वाले लोगों के खिलाफ पार्टी करेगी कार्रवाई: gulam-nabi-aajad-news

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत करते हुए गुलाम नबी आजाद ने कहा कि ‘जो लोग सीडब्ल्यूसी बैठक के दौरान रनिंग कमेंट्री कर रहे थे क्या वो लोग अनुशासनहीनता नहीं कर रहे थे?

वह लोग जो हमें गालियां दे रहे थे क्या वो अनुशासनहीनता नहीं कर रहे थे?’ क्या पार्टी ऐसे लोगों के खिलाफ भी कोई कार्रवाई करेगी? gulam-nabi-aajad-news

गौरतलब है कि बीते दिनों कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं ने पार्टी में बदलाव की मांग को लेकर सोनिया गांधी को पत्र लिखा था. इस पत्र पर सीडब्ल्यूसी की बैठक में जमकर हंगामा हुआ था.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस पत्र के टाइमिंग पर सवाल खड़ा करते हुए पत्र लिखने के मामले में भाजपा के सांठगांठ का आरोप लगाया था.

तभी से माना जा रहा है कि पार्टी को नसीहत देने वाले लोग पार्टी से नाराज चल रहे हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

बगावती पत्र लिखे जाने पर नाराज राहुल गांधी, भाजपा से सांठगांठ का आरोप