Gujarat Exclusive > गुजरात > अजमेर के ख्वाजा गरीब नवाज पहुंचे हार्दिक पटेल, कोरोना मुक्त भारत की मांगी दुआ

अजमेर के ख्वाजा गरीब नवाज पहुंचे हार्दिक पटेल, कोरोना मुक्त भारत की मांगी दुआ

0
273

अकीब छीपा, अहमदाबाद: गुजरात कांग्रेस कार्य समिति के अध्यक्ष हार्दिक पटेल (Hardik Patel) शनिवार को अजमेर के ख्वाजा गरीब नवाज साहब की दरगाह में हाजरी दी. राजस्थान वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष खानू खान और अन्य लोगों के साथ हार्दिक पटेल (Hardik Patel) ने ख्वाजा गरीब नवाज में सुबह 10.30 बजे हाजरी दी.

इस दौरान हार्दिक पटेल (Hardik Patel) ने कोरोना मुक्त बारत के लिए दुआ मांगी और राजस्थान की राजधानी जयपुर से 145 किलोमीटर की दूरी पर स्थित ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह पर ‘चादर’ चढ़ाई. हार्दिक पटेल (Hardik Patel) एक घंटे से अधिक समय तक दरगाह पर मौजूद रहे जहां खादिमों द्वारा उनका स्वागत किया गया.

यह भी पढ़ें: गुजरात: सुरेंद्रनगर में डम्पर और कार के बीच भीषण टक्कर, 7 लोगों की मौत

पटेल (Hardik Patel) के साथ मौजूद अजमेर दरगाह के खादिम में से एक सैयद सुहैल अहमद नियाज़ी ने गुजरात एक्सक्ल्यूसिव को बताया कि युवा नेता ने मन्नत की गांठ बांधी और गुजरात के लोगों के लिए कोरोना से राहत की भी प्रार्थना की. साथ ही उन्होंने कोरोना मुक्त भारत के लिए प्रार्थना की. फूल और चादर चढ़ाने के बाद, पटेल ने दरगाह नियाज़ी के खादिमों से भी मुलाकात की. पिछले दो वर्षों में ख्वाजा साहब दरगाह में हार्दिक पटेल की यह दूसरी यात्रा है.

हर वर्ग को मिले पूरी समानता- हार्दिक

इस दौरान हार्दिक पटेल ने कहा कि सरकार का प्रयास होना चाहिए कि हर वर्ग को पूरी समानता मिले. किसी भी देश के लिए हिंदू मुसलमान के नाम पर राजनीति करना देश के लिए खतरा है. कट्टरता से किसी भी देश का विकास नहीं होता, जहां समानता रहती है, प्यार होता है, वही देश विकास करता है.

पटेल (Hardik Patel) ने कहा कि मौजूदा केंद्र सरकार और गुजरात की राज्य सरकार कोरोना वायरस से निपटने में पूरी तरह से नाकाम साबित हुई है. हजारों लोगों की जान जा चुकी है. सरकार को चिकित्सा व्यवस्था सही करने और इस समाधान के लिए लड़ना चाहिए था, लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया.

हार्दिक को मिली है यात्रा की इजाजत

इस महीने की शुरुआत में, गुजरात उच्च न्यायालय ने पटेल को 17 दिनों के लिए राज्य से बाहर जाने की अनुमति दी. उच्च न्यायालय ने उन्हें 11 नवंबर से 2 दिसंबर तक गुजरात से बाहर यात्रा करने की अनुमति दी है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें