Gujarat Exclusive > देश-विदेश > हाथरस दलित पीड़िता के आरोपियों के पक्ष में जुटा सवर्ण समाज, CBI जांच की मांग

हाथरस दलित पीड़िता के आरोपियों के पक्ष में जुटा सवर्ण समाज, CBI जांच की मांग

0
386

हाथरस गैंगरेप (Hathras Gangrape) मामले में अब स्थानिय लोग दो गुटों में बंटते दिखाई दे रहे हैं. इस मामले में सवर्ण समाज के लोग धीरे-धीरे खुलकर सामने आने लगे हैं. इसे लेकर शुक्रवार को गांव बघना में 12 गांवों के लोगों की पंचायत हुई. इस पंचायत में लोगों ने आरोपियों के पक्ष से मांग उठाई है और सीबीआई जांच की मांग की.

उधर दिल्ली के जतंर मंतर पर गैंगरेप (Hathras Gangrape) की पीड़िता के पक्ष में विरोध प्रदर्शन किया गया जिसमें आम आदमी पार्टी के कई नेता और बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर भी मौजूद हुईं. स्वारा ने सवर्ण समाज के लोगों द्वारा पंचायत की एक पोस्ट शेयर करके उसे शर्मनाक बताया है.

 

पीड़िता को इंसाफ दिलाने की मांग को लेकर बड़ी संख्या में लोग प्रदर्शन करने पहुंचे. आम आदमी पार्टी सौरभ भारद्वाज, अभिनेत्री स्वरा भास्कर और दलित नेता जिग्नेश मेवाणी जंतर-मंतर पहुंचे.

यह भी पढ़ें: यूपी में माताओं-बहनों के सम्मान को क्षति पहुंचाने वालों का समूल नाश सुनिश्चित: सीएम योगी

यह आग जलती रहनी चाहिए

फिल्म अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने शुक्रवार दोपहर ट्वीट कर कहा था, ‘यह आग हमारे दिलों में जलाई है उत्तर प्रदेश प्रशासन की क्रूरता ने. यह आग जलती रहनी चाहिए. कारवां रुकना नहीं चाहिए. गुस्सा कम नहीं होना चाहिए. आज शाम पांच बजे जंतर-मंतर पहुंचें. सरकार को जिम्मेदार ठहराने, उससे इस्तीफा मांगने.’

इंडिया गेट पर आने वाली थी भीम आर्मी

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने भी हाथरस गैंगरेप मामले (Hathras Gangrape) पर प्रदर्शन के लिए इंडिया पर एकत्रित होने के लिए आग्रह किया था, लेकिन दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को वहां भीड़ पर प्रतिबंध लगाने का निर्देश जारी कर दिया था. इसके बाद चंद्रशेखर आज़ाद ने कहा कि आंदोलन को 3 किमी दूर जंतर मंतर में स्थानांतरित कर दिया गया.

छावनी में तब्दील है पीड़िता का गांल

मालूम हो कि हाथरस की घटना को लेकर राजनीतिक दलों की सक्रियता तो बढ़ ही गई है, इलाके में तवान भी बढ़ गया है. राहुल और प्रियंका गांधी के विरोध प्रदर्शन के बाद हाथरस में धारा 144 लागू कर दी गई है. बिटिया के गांव जाने वाले सभी रास्तों पर बड़़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किए गए है और गांव को छावनी में तब्दील कर दिया गया है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें