Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > भारत में कोरोना वैक्सीन 2021 की शुरुआत में उपलब्ध होने की आशा: स्वास्थ्य मंत्री

भारत में कोरोना वैक्सीन 2021 की शुरुआत में उपलब्ध होने की आशा: स्वास्थ्य मंत्री

0
417

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन (Health Minister Dr. Harshvardhan) ने आज राज्यसभा में कोरोना वायरस की वैक्सीन की भारत में उपलब्धता पर जानकारी दी. डॉ. हर्षवर्धन (Health Minister Dr. Harshvardhan) ने बताया कि देश में कोरोना वायरस की तीन वैक्सीन अलग-अलग चरण में हैं.

हर्षवर्धन (Health Minister Dr. Harshvardhan) ने राज्यसभा में कहा,

अन्य देशों की तरह, भारत भी प्रयास कर रहा है और कोरोना से संबंधित तीन टीकों का ट्रायल अलग-अलग चरणों में चल रहा है. प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में, एक विशेषज्ञ समूह इन टीकों को देख रहा है और इसके स्थान पर उन्नत योजना बना रहा है. हमें उम्मीद है कि अगले साल की शुरुआत तक भारत में एक वैक्सीन जरूर उपलब्ध होगी, हम डब्ल्यूएचओ के साथ भी कोऑर्डिनेट कर रहे हैं.

अलग-अलग चरण में तीन वैक्सीन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन (Health Minister Dr. Harshvardhan) ने कहा कि भारत में नए वैक्सीन के लिए ट्रायल्स फेस 1, फेस 2 और फेस 3 में पहुंच गए हैं. उन्होंने कोरोना संक्रमण को रोकने की दिशा में सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की जानकारी देते हुए कहा कि शुरू में एक ही टेस्टिंग लैब फैसिलिटी थी लेकिन उसे अब 1700 तक पहुंचा दिया गया है.

यह भी पढ़ें: डोनाल्ड ट्रंप का दावा, अगले चार हफ्ते में आ जाएगी कोरोना की वैक्सीन

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा,

देश में आज पीपीआई किट बनाने वाली 110 कंपनियां हो चुकी हैं. देश में वेंटिलेटर्स उत्पादकों की संख्या भी बढ़कर 25 हो चुकी है. एन 95 मास्क के भी 10 बड़े उत्पादक हो गए हैं. इससे पहले वेंटिलेटर्स के लिए हमें आयात पर निर्भर रहना पड़ता था. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने कभी भी राज्यों के साथ कोई भेदभाव नहीं किया.

बीच चर्चा में बंद हुई माइक

लोकसभा में स्वास्थ्य मंत्री (Health Minister Dr. Harshvardhan) की चर्चा के दौरान एक घटना में पूरा सदन हंस पड़ा. दरअसल जब केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री (Health Minister Dr. Harshvardhan) लोकसभा में बैठकर कोरोना संक्रमण और उससे निपटने की व्यवस्था पर चर्चा कर रहे थे, तभी उनकी माइक से आवाज आनी बंद हो गई.
इसके बाद राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश ने पहल करते हुए व्यवस्था तुरंत ठीक करवाया. हर्षवर्धन (Health Minister Dr. Harshvardhan) जब दोबारा बोलने लगे तो उन्होंने इस पर चुटकी ली कि पता नहीं कब माइक बंद हुआ या बंद कर दिया गया. इसके बाद सदन में सांसद हंस पड़े.

रूसी वैक्सीन से करार

भारत में बेहद तेजी से बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच एक अच्छी खबर सामने आई है. खबर है कि रूस में कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक V बनाने वाली सरकारी कंपनी RDIF ने भारतीय फार्मास्यूटिकल कंपनी डॉक्टर रेड्डीज के साथ 10 करोड़ वैक्सीन के डोज तैयार करने के लिए करार किया है.

इस करार के मुताबिक नवंबर तक भारत में रूसी कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की 10 करोड़ डोज उपलब्ध हो सकती हैं.

खबर के अनुसार RDIF ने रूस के स्पुतनिक वी वैक्सीन (Corona Vaccine) के भारत में क्लिनिकल ट्रायल और वितरण के लिए Dr. Reddy’s लेबारेटरीज से समझौता किया है. समझौते के अनुसार रूसी कंपनी भारत में Dr. Reddy’s को 10 करोड़ टीके (Corona Vaccine) की आपूर्ति करेगी.

आरडीआईएफ के सीईओ ने न्यूज एजेंसी पीटीआई से बातचीत में कहा, ”रूस की आरडीआईएफ भारत में स्पूतनिक-5 टीके (Corona Vaccine) के क्लीनिकल परीक्षण और वितरण के लिये डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज के साथ मिलकर काम करेगी.”

अमेरिका ने भी जगाई उम्मीदें

उधर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी दावा किया है कि अगले तीन से चार हफ्ते में उनके देश में कोरोना की वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी. अमेरिका की दो कोरोना वैक्सीन को लेकर उम्मीदें बंधी हैं और आशा की जा रही है कि नवंबर तक यह वैक्सीन मार्केट में आ जाएगी. वहीं ब्रिटेन के ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन से भी अच्छी खबर की उम्मीदें हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें