Gujarat Exclusive > राजनीति > हिंदी देश की भाषा है, गृह मंत्री अमित शाह को स्वीकार करनी चाहिए चुनौती: संजय राउत

हिंदी देश की भाषा है, गृह मंत्री अमित शाह को स्वीकार करनी चाहिए चुनौती: संजय राउत

0
120

देश में इन दिनों हिंदी भाषा को लेकर सियासत तेज हो गई है. तमिलनाडु के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. के. पोनमुडी ने बीते दिनों हिंदी भाषा को लेकर विवादित बयान देते हुए कहा था कि हिंदी बोलने वाले कोयंबटूर में पानीपुरी बेच रहे हैं. हिंदी बोलने वाले लोग छोटे-मोटे काम करते हैं. भाषा के रूप में अंग्रेजी हिंदी से कहीं ज्यादा अहमियत रखती है.

शिवसेना नेता संजय राउत हिंदी भाषा को लेकर जारी बहस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. राउत ने कहा कि हिंदी देश की भाषा है. एक मात्र भाषा जिसको पूरे देश में मान्यता है, जो पूरे देश में बोली जाती है वो हिंदी है. गृह मंत्री अमित शाह को ये चुनौती स्वीकार करनी चाहिए कि सभी राज्यों में एक भाषा… एक देश, एक संविधान, एक विधान, एक निशान और एक भाषा होनी चाहिए.

इसके अलावा शिवसेना नेता संजय राउत ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि आज 2-2.5 साल बाद इस तरह की रैली मुंबई में होने जा रही है, लाखों लोग इसमें आएंगे. उद्धव ठाकरे का संबोधन सुनेंगे, कौन सी दिशा, कौन सी भूमिका उद्धव ठाकरे लेने वाले हैं, पूरा देश जानना चाहता है. ये ऐतिहासिक और क्रांतिकारी रैली होगी.

इस मौके पर राउत ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोग महाराष्ट्र का माहौल बिगाड़ना चाहते हैं, महा विकास अघाड़ी सरकार को बदनाम करना चाहते हैं, राज्य को अस्थिर करना चाहते हैं. इन सभी प्रश्नों का उद्धव ठाकरे आज करारा जवाब देंगे.

पंजाब डीजीपी के किया बड़ा खुलासा, ISI की मदद से किया गया मोहाली में रॉकेट ब्लास्ट