Gujarat Exclusive > देश-विदेश > राष्ट्रनिर्माण में ईमानदार टैक्सपेयर अदा करता है बड़ी भूमिका: PM मोदी

राष्ट्रनिर्माण में ईमानदार टैक्सपेयर अदा करता है बड़ी भूमिका: PM मोदी

0
573

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज के ईमानदारी से कर चुकाने वालों के लिए ‘पारदर्शी कराधान – ईमानदार का सम्मान’ नामक प्लेटफॉर्म का वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए आगाज किया.

इस मौके पर केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर के साथ ही साथ इनकम टेक्स विभाग के अधिकारियों एवं पदाधिकारियों के अलावा अलग-अलग वाणिज्य

मंडलों, व्यापार संघों एवं चार्टर्ड एकाउंटेंट संघों के साथ ही साथ कई जाने-माने करदाता मौजूद रहे.

पीएम मोदी ने कहा राष्ट्रनिर्माण में ईमानदार टैक्सपेयर अदा करता है बड़ी भूमिका

“पारदर्शी कराधान ईमानदार का सम्मान” नामी इस प्‍लेटफॉर्म का लॉन्च करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ईमानदार करदाता राष्ट्रनिर्माण में बड़ी भूमिका निभाता है.

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि इस प्‍लेटफॉर्म की वजह से देश के ईमादार करदाताओं का जीवन आसान बनेगा तभी देश आगे बढ़ेगा और देश का विकास होगा.

यह भी पढ़ें: अंडमान निकोबार में अब मिलेगी हाईस्पीड इंटरनेट सुविधा, पीएम मोदी ने किया उद्घाटन

 मिनिमम गवर्नमेंट और मैक्सिमम गवर्नेंस के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को और मजबूत किया है- पीएम मोदी 

इस मौके पर पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि “पारदर्शी कराधान ईमानदार का सम्मान” का आगाज कर हमने उन्होंने कहा कि आज से शुरू होने वाली इस व्यवस्था से मिनिमम गवर्नमेंट और मैक्सिमम गवर्नेंस के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को और मजबूत किया है.

ये कदम देशवासियों के जीवन से सरकार को, सरकार के दखल को कम करने की दिशा में एक बड़ा और महत्वपूर्ण कदम है.

इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि इस नई व्यवस्था के बाद करदाता के गौरव का संवेदनशीलता का ध्यान आयकर विभाग को रखना होगा.

इस नए सिस्टम से सीमलेस, फेसलेस और पेनलेस होगा. उन्होंने कहा कि इनकम टैक्स रिटर्न भरने वालों की संख्या में बीते 6 से 7 सालों में भारी वृद्धि देखी गई है.

लेकिन 130 करोड़ के आबादी वाली देश में सिर्फ डेढ़ करोड़ साथी ही इनकम टैक्स जमा करते हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कोरोना की चपेट में आए रामजन्मभूमि ट्रस्ट के अध्यक्ष, पीएम मोदी संग साझा किया था स्टेट