Gujarat Exclusive > गुजरात > राजकोट कोविड अस्पताल में आग, सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार को लगाई फटकार

राजकोट कोविड अस्पताल में आग, सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार को लगाई फटकार

0
265

नई दिल्ली: राजकोट के उदय शिवानंद कोविड अस्पताल में आग लगने से पांच मरीजों की मौत हो गई.

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने स्‍वत: संज्ञान लेते हुए गुजरात सरकार को फटकार लगाई और कहा कि यह दुर्भाग्‍यपूर्ण गुजरात सरकार जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई करे.

सुप्रीम कोर्ट ने लगाई राजकोट की आग पर ध्यान

मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कोरोना मरीज अपनी जान बचाने के लिए अस्पतालों में जाते हैं. लेकिन वहां उनकी मौत हो जाती है यह दुर्भाग्यपूर्ण है.

इतना ही नहीं कोर्ट ने सख्त नाराजगी का इजहार करते हुए कहा फायर को रोकने के लिए लगे फायर शेफ्टी के उपकरण को शो पीस की तरह रखा जा रहा है.

यह चौंकाने वाला है क्योंकि इससे पहले भी कई अस्पतालों में आग लग चुकी है. इस मामले को लेकर सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि ये गंभीर मामला है.

गुजरात सरकार को हलफनामा दाखिल करना चाहिए.Hospital Fire Supreme Court

यह भी पढ़ें: राजकोट: कोविड अस्पताल के ICU में लगी भीषण आग, 5 मरीजों की मौत

गुजरात सरकार से जवाब तलब

जस्टिस अशोक भूषण, आर सुभाष रेड्डी और एमआर शाह की तीन-जजों वाली बेंच ने इस घटना पर गुजरात सरकार से जवाब मांगा है.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि समय-समय पर दिशानिर्देशों और रिपोर्टों के बावजूद सरकार आग लगने की ऐसी घटनाओं पर काबू नहीं पा रही.

सॉलिसिटर जनरल ने कहा, कि इस मामले पर एक बैठक होना चाहिए ताकि जिम्मेदारों की जिम्मेदारी तय की जाए. Hospital Fire Supreme Court

गुजरात में कोरोना के बढ़ते मामलों पर भी सुप्रीम कोर्ट लगा चुकी है फटकार Hospital Fire Supreme Court

कोरोना के बढ़ते मामले और कोरोना संक्रमितों को अस्पतालों में दी जाने वाली व्यवस्था को लेकर देश की सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जताई है.

कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए आदेश दिया है कि कोरोना मरीजों का उचित इलाज और कोरोना रोगियों का सम्मानजनक अंतिम संस्कार किया जाना चाहिए.

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को लेकर 4 राज्यों से दो दिन के अंदर स्टेटस रिपोर्ट दायर करने का निर्देश दिया है.Hospital Fire Supreme Court

दो दिनों के स्टेटस रिपोर्ट दायर करने का दिया निर्देश इतना ही नहीं सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कोरोना को लेकर स्थिति दिन प्रतिदिन बिगड़ती जा रही है.

अगर सरकार की ओर से पर्याप्त तैयारी नहीं की गई तो दिसंबर में हालात और ज़्यादा खराब हो सकते है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

राजकोट कोविड अस्पताल में आग, मेयर का विवादित बयान