Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात के अमीरगढ़ में प्रवासी मजदूरों का भूख हड़ताल, गुजरात सरकार पर लगाया आरोप…

गुजरात के अमीरगढ़ में प्रवासी मजदूरों का भूख हड़ताल, गुजरात सरकार पर लगाया आरोप…

0
3649

गुजरात और राजस्थान के वॉर्डर पर मौजूद अमीरगढ़ में पिछले काफी दिनों राजस्थान के 120 मजदूरों को होम क्वारंटाइन किया गया है. घर वापसी की उम्मीद खत्म होने वाली थी लेकिन इसी दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर से 19 दिनों के तालाबंदी का ऐलान कर दिया जिससे इन मजदूरों की घर वापसी की उम्मीद पर पानी फिर गया. जिसके बाद मजदूर घर जाने की मांग को लेकर भूख हड़ताल शुरू कर दिया.

गुजरात के अलग-अलग हिस्सों में बड़ी तादाद में प्रवासी मजदूर रोजी-रोटी कमाने आते हैं. ऐसे लोग जब पहली बार तालाबंदी का ऐलान किया गया था तभी अपने घर पैदल जाने को रवाना हो गए थे. लेकिन राज्य सरकार के आश्वासन पर ये लोग जहां थे वहीं रुक गए. लेकिन अब 21 दिन पूरा होने के बाद भी इनके घर वापसी की उम्मीद सिर्फ उम्मीद साबित हो रही. जिससे नाराज होकर मजदूर गुजरात सरकार पर आरोप लगा रहे हैं कि राजस्थान सरकार 14 दिन क्वारंटाइन का पूरा होने के बाद हमें राजस्थान में एंट्री देने को तैयार हो गई है लेकिन गुजरात सरकार हम लोगों को जाने ही नहीं दे रही है.

अमीरगढ़ के मोडेल स्कूल में पिछले 16 दिनों से होम क्वारंटाइन हुए मजदूर अब परेशान हो गए हैं, और घर वापसी की मांग को लेकर भूख हड़ताल शुरु कर दिया है. मामला सामने आने के बाद जिला प्रसाशन लोगों को समझाने का काम कर रही है.

गुजरात में डॉक्टर बेटी बीमार मां को छोड़कर, कोरोना संक्रमितों की कर रही है सेवा