Gujarat Exclusive > देश-विदेश > IAS अधिकारी ने जमातियों की तारीफ में पढ़े कसीदे, कर्नाटक सरकार ने थमा दिया नोटिस

IAS अधिकारी ने जमातियों की तारीफ में पढ़े कसीदे, कर्नाटक सरकार ने थमा दिया नोटिस

0
571

कर्नाटक सरकार ने एक आईएएस अधिकारी को जमातियों की तारीफ करने पर कारण बताओ नोटिस दिया है. लॉकडाउन के दौरान प्लाज्मा डोनेट करने वाले तब्लीगी जमातियों की तारीफ करते हुए आईएएस अधिकारी मोहम्मद मोहसिन ने एक ट्वीट किया था. इस ट्वीट के लिए राज्य सरकार ने नोटिस जारी कर पांच दिन के भीतर मोहसिन से जवाब मांगा है. मूल रूप से बिहार के रहने वाले मोहम्मद मोहसिन इस समय पिछड़ी जाति कल्याण विभाग के सचिव के रूप में कार्यरत हैं.

27 अप्रैल को मोहसिन ने कोरोना से स्वस्थ हुए तबलीगी जमात के लोगों की ओर से अन्य मरीजों के इलाज के लिए प्लाज्मा दान करने को लेकर ट्वीट किया था. उन्होंने लिखा था “केवल दिल्ली में 300 से अधिक ‘तबलीगी हीरो’ देश की सेवा के लिए प्लाज्मा दान कर रहे हैं. लेकिन ‘गोदी मीडिया’ इन हीरो के मानवता कार्य को नहीं दिखाएगा.”

राज्य की भाजपा सरकार ने उनके इस ट्वीट को गंभीरता से लेते हुए उसके खिलाफ उन्हें कारण बताओ नोटिस दिया है. उन पर अखिल भारतीय सेवा के नियमों के उल्लंघन का आरोप है. जिसके चलते उन से लिखित जवाब मांगा गया है. नोटिस में कहा गया है कि अगर वो पाँच दिनों के भीतर स्पष्टीकरण नहीं देते हैं, तो उनके खिलाफ अखिल भारतीय सेवा (अनुशासन और अपील) नियम, 1969के तहत कार्रवाई की जाएगी.

मोहसिन पहले भी विवादों में आ चुके हैं. इससे पहले पिछले साल लोकसभा चुनाव के दौरान ओडिशा में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलीकॉप्टर की जाँच करने की कोशिश की थी जिसके लिए उन्हें बाद में निलंबित किया गया था.

कोरोना कहर: प्लाज्मा डोनेट करने वाले जमाती ने कहा- जरूरत पड़ी तो 10 बार करूंगा