Gujarat Exclusive > देश-विदेश > पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार ने विश्वास मत हासिल किया

पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार ने विश्वास मत हासिल किया

0
218

Imran Khan: पाकिस्तान की इमरान सरकार पर आया संकट टल गया है. प्रधानमंत्री इमरान खान ने शनिवार को नेशनल एसेंबली में विश्वास मत हासिल कर लिया है. 342 सदस्यी नेशनल एसेंबली में उनको जीत के लिए 171 वोट चाहिए थे. पाकिस्तान तहरीक़े इसाफ़ के 157 और सहयोगी पार्टियों को मिला कर इमरान खान को 178 वोट हासिल हुए. Imran Khan

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने संसद में प्रस्ताव रखा है, जिस पर वोटिंग शुरू होने के बाद इमरान खान सरकार ने विश्वास मत हासिल कर लिया. Imran Khan

विश्वास मत की जरूरत क्यों पड़ी

विपक्ष ने इस विश्वास मत का बहिष्कार किया इसलिए सदन में विपक्ष के सांसद मौजूद नहीं थे. सीनेट चुनाव में अपने वित्त मंत्री के हार जाने के बाद विपक्ष ने इमरान खान पर इस्तीफ़े का दबाव बनाया था. वह अविश्वास प्रस्ताव लाने की रणनीति बना रहा था लेकिन इमरान खान ने ख़ुद आगे बढ़ कर विश्वास मत हासिल करने का ऐलान कर दिया. Imran Khan

इससे पहले, इमरान सरकार के बहुमत पर चर्चा होने की पूर्व संध्या पर विपक्षी गठबंधन ने शुक्रवार को घोषणा की थी कि वे विश्वास मत का बहिष्कार करेंगे और दावा किया कि सीनेट चुनाव में उनके उम्मीदवार की जीत ही प्रधानमंत्री के खिलाफ ‘‘अविश्वास प्रस्ताव’’ है. Imran Khan

इमरान ने किया था दावा

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान इमरान खान ने कहा गुरुवार को दावा किया था, “मैं परसों (शनिवार) विश्वास मत हासिल करूंगा. मैं अपने सदस्यों से यह दिखाने के लिए कहूंगा कि उनका मुझ पर विश्वास है. अगर वे कहते हैं कि उन्हें कोई भरोसा नहीं है, तो मैं विपक्षी बेंच पर बैठूंगा.” Imran Khan

खान को नेशनल एसेंबली में 171 सांसदों का समर्थन चाहिए था क्योंकि सदन में कुल 342 सदस्यों में अभी 340 सदस्य हैं और दो सीटें खाली हैं. खान की पीटीआई के पास 157 सांसद हैं जबकि विपक्षी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के 83 सदस्य हैं और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के 55 सांसद हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें