Gujarat Exclusive > गुजरात > अहमदाबाद: मास्क नहीं पहनने और सार्वजनिक स्थल पर थूकने वालों की अब खैर नहीं

अहमदाबाद: मास्क नहीं पहनने और सार्वजनिक स्थल पर थूकने वालों की अब खैर नहीं

0
2207

अहमदाबाद: गुजरात में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है. कोरोना संक्रमितों की संख्या में अहमदाबाद में कमी जरुर दर्ज की गई है. बावजूद इसके गुजरात में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में आज भी अहमदाबाद पहले पायदान पर है. ऐसे में कोरोना पर काबू पाने के लिए सरकारी दिशा-निर्देशों का पालन करने की अपील की जा रही है. जो लोग सरकारी गाइडलाइन का पालन नहीं करते उनके खिलाफ प्रशासन सख्त रवैया अख्तियार कर रही है. जिसके बाद अब मास्क नहीं पहने पर जुर्माना की राशि बढ़ा दी गई है.

अहमदाबाद में बढ़ते कोरोना के कोहराम पर काबू पाने के लिए कई तरीके की कोशिश की जा रही है. शहर में कोरोना के प्रसार पर अंकुश लगाने के लिए किए जा रहे उपायों की समीक्षा को लेकर आज अहमदाबाद के साबरमती रिवरफ्रंट हाउस में एक बैठक आयोजित की गई. बैठक में अहमदाबाद म्युनिसिपल कमिश्नर मुकेश कुमार और अलग-अलग जोन के डेप्यूटी म्युनिसिपल कमिश्नरों ने हिस्सा लिया.

बैठक में फैसला लिया गया कि क्योंकि बिना मास्क घर से निकलने वाले और इधर-उधर पान मसाला की पिचाकारी मारने वाले से अब 200 की जगह पर 500 रुपया का जुर्माना वसूला जाएगा. वहीं पान की दुकान के पास गुटका खाकर वहीं थूकने वालों के साथ पान दुकान मालिक से 10, 000 रुपए का जुर्माना वसूला जाएगा. नया नियम अहमदाबाद में तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है.

जुलाई में, 94 इकाइयों को किया सील

अहमदाबाद और सूरत में कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है. कोरोना दिशा- निर्देश के अनुसार मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य है. लेकिन नियमों का पालन नहीं करने वाले लोगों के पास से अहमदाबाद मनपा और पुलिस ने 1.72 लाख लोगों से जुर्माना वसूला है. वहीं नियमों का पालन नहीं करने वाले 94 इकाइयों को मनपा की टीम ने सील कर दिया है.

COVID-19: अहमदाबाद के पश्चिम जोन में सबसे ज्यादा एक्टिव केस