Gujarat Exclusive > देश-विदेश > स्वतंत्रता दिवस पर केपी ओली ने पीएम मोदी से की बात, चीन से भी आया संदेश

स्वतंत्रता दिवस पर केपी ओली ने पीएम मोदी से की बात, चीन से भी आया संदेश

0
937

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली ने फोन पर बातचीत की. ओली ने पीएम मोदी को 74वें स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी.
वहीं आजादी दिवस पर चीन की ओर से संदेश आया है.

केपी ओली ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के रूप में भारत को चुने जाने पर मोदी को बधाई दी.

यह भी पढ़ें: LoC से लेकर LAC तक आंख दिखाने वालों को हमने जवाब दिया: पीएम मोदी

विदेश मंत्रालय ने बताया कि इस दौरान दोनों देशों में कोरोना वायरस महामारी के प्रभाव को कम करने के लिए किए जा रहे प्रयासों के संदर्भ में आपसी एकजुटता व्यक्त की.
पीएम मोदी ने इस संबंध में नेपाल को भारत के निरंतर समर्थन की पेशकश की.

भारत-नेपाल के बीच चल रहा तनाव

पिछले कुछ समय में भारत और नेपाल के बीच तनाव है.
नेपाल ने मई में नया राजनीतिक नक्शा जारी किया था.
इसमें भारत के दावे वाले जगहों को भी उसने शामिल कर लिया था.
नेपाल के इस फैसले से दोनों देशों के रिश्तों में खटास पैदा हो गई.
भारतीय राजदूत विजय मोहन क्वात्रा और नेपाल के विदेश सचिव शंकर दास बैरागी 17 अगस्त को द्विपक्षीय वार्ता करेंगे.

दरअसल, 8 मई को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने उत्तराखंड के धारचुला को लिपुलेख दर्रे से जोड़ने वाली सामरिक रूप से महत्वपूर्ण 80 किलोमीटर लंबी सड़क का उद्घाटन किया था.
नेपाल ने इसका विरोध किया.

उससे पहले नेपाल ने भारत के कुछ हिस्सों को अपने मैप में जगह दी थी.
उसको लेकर भारत ने नेपाल से विरोध दर्ज कराया था.

चीन ने भेजा संदेशा

उधर आजादी की 73वीं वर्षगांठ के मौके पर भारत में चीन के राजदूत सुन वीडोंग ने भी भारत को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी है.

सुन वीडोंग ने कहा, ‘भारत सरकार और देश की जनता को स्वतंत्रता दिवस की बधाई.
उम्मीद है कि चीन और भारत, प्राचीन सभ्यता वाले दो महान देश शांति के साथ विकसित हों,
और उनके बीच निकट रूप से साझेदारी बढ़े.’
गौरतलब है कि लद्दाख में भारत और चीनी सेना के बीच करीब दो महीने से तनातनी जारी है.
दोनों देशों के बीच कई बार सैन्य वार्ता हो चुकी है, जो हर बार विफल रही है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें