Gujarat Exclusive > यूथ > गेंदबाजों ने बल्ले से दिखाया दम लेकिन फिर भी नहीं बची टीम इंडिया की लाज, कीवी टीम ने जीती वनडे सीरीज

गेंदबाजों ने बल्ले से दिखाया दम लेकिन फिर भी नहीं बची टीम इंडिया की लाज, कीवी टीम ने जीती वनडे सीरीज

0
261

ऑकलैंड : टी-20 सीरीज में एकतरफा फतह करने वाली भारतीय क्रिकेट टीम को वनडे सीरीज में न्यूजीलैंड के हाथों मुह की खानी पड़ी. दूसरे वनडे में न्यूजीलैंड ने भारत को 22 रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की निर्णायक बढ़त हासिल कर ली. न्यूजीलैंड से मिले 273 रनों के लक्ष्य के सामने विराट कोहली की सेना ताश के पत्तों की तरह बिखर गई. पुछल्लै क्रम के बल्लेबाजों ने भारत को जीत दिलाने की कोशिश की लेकिन भारतीय पारी 48.3 ओवर में 251 रनों पर सिमट गई.  पृथ्वी शॉ (24 रन) और मयंक अग्रवाल (3 रन) की जोड़ी एकबार फिर असफल साबित हुई जबकि कप्तान विराट (15 रन) कोहली भी कुछ खास नहीं कर पाए.

काम ना आई अय्यर-जडेजा की मेहनत

पिछले मुकाबले के शतकवीर श्रेयस अय्यर ने 52 रनों की जूझारू पारी खेली लेकिन इस वह भी अपनी पारी को विस्तार नहीं दे पाए. अय्यर ने 57 गेंदों की अपनी पारी में सात चौके और एक छक्के लगाए. वहीं सातवें क्रम पर बल्लेबाजी करने उतरे रविंद्र जडेजा आखिर तक जमे रहे लेकिन वह भी आखिरी विकेट के रूप में 55 रन बनाकर आउट हुए.

तेज गेंदबाज सैनी की उम्दा बल्लेबाजी

इस मुकाबले में तेज गेंदबाज नवदीप सैनी को कोई विकेट नहीं मिला लेकिन अपनी ख्याति के विपरित उन्होंने बल्ले से अपनी उपयोगिता साबित की. सैनी ने आठवें विकेट के लिए जडेजा के साथ मिलकर 76 रन जोड़े. सैनी ने 49 गेंदों का सामना करते हुए पांच चौके और दो छक्के की मदद से 45 रन जोड़े. यह उनके प्रथम श्रेणी क्रिकेट का सर्वाधिक स्कोर है.

गुप्टिल और टेलर ने जमाए अर्धशतक

इससे पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर न्यूजीलैंड को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया. न्यूजीलैंड ने धमाकेदार शुरुआत की और मार्टिन गुप्टिल और हेनरी निकोलस ने पहले विकेट के लिए 93 रन जोड़े. हालांकि शीर्ष चार बल्लेबाजों को छोड़कर न्यूजीलैंड का कोई भी बल्लेबाज कुछ खास कमाल नहीं दिखा सका. गुप्टिल ने 79 गेंदों पर आठ चौके और तीन छक्के की मदद से सर्वाधिक 79 रन बनाए जबकि निकलोस ने 41 रनों का योगदान दिया. इसके बाद पिछले मुकाबले के हीरो रहे रॉस टेलर ने 74 गेंदों में नाबाद 73 रनों की पारी खेलकर अपनी टीम को एक सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया. टेलर ने अपनी पारी में छह चौके और दो छक्के लगाए.

चहल हुए सबसे सफल

भारत की ओर युजवेंद्र चहल सबसे सफल हुए. उन्होंने 10 ओवर में 58 रन देकर तीन विकेट हासिल किए. इसके अलावा शार्दुल ठाकुर ने 10 ओवर में 60 रन देकर दो विकेट झटके. इसके अलावा रविंद्र जडेजा ने 10 ओवर के अपने स्पैल में महज 35 रन खर्च करके एक विकट झटका.