Gujarat Exclusive > देश-विदेश > भारत ने रूस और पोलैंड को पछाड़ा, देश को मिला 290 करोड़ का हथ‍ियार सौदा

भारत ने रूस और पोलैंड को पछाड़ा, देश को मिला 290 करोड़ का हथ‍ियार सौदा

0
703

भारत ने रूस और पौलैंड को पछाड़ते हुए आर्मेनिया के साथ एक बड़ा रक्षा सौदा किया है. इस सौदे के जरिए भारत रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) द्वारा विकसित और भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (BEL) द्वारा निर्मित 4 करोड़ डॉलर (करीब 290 करोड़ रुपये) के हथियार आर्मेनिया को बेचेगा.

खबरों के मुताबिक इस सौदे में ‘स्वाति वेपन लोकेटिंग रडार’ सिस्टम शामिल है. इन हथियारों का निर्माण ‘मेक इन इंडिया’ के तहत किया गया है. इसके लिए आर्मेनिया को रूस और पौलेंड ने भी प्रस्तार मिला था लेकिन आर्मेनिया ने भारत द्वारा बनाए गए सिस्टम पर भरोसा जाताया और डील फाइनल हुई. रक्षा मंत्रालय सूत्रों ने यह भी बताया कि अब रक्षा निर्यात को बढ़ावा देने के लिए दक्षिण-पूर्व एशिया, दक्षिण अमेरिका और मध्य-पूर्व देशों पर नजर है. मोदी सरकार द्वारा साल 2024-5 तक सालाना 35,000 करोड़ रुपए के रक्षा निर्यात का लक्ष्य रखा गया है.

सौदे के मुताबिक भारत चार स्वाति वेपन लोकेटिंग रडार की आपूर्ति करेगा, जो 50 किमी के रेंज में दुश्मन के हथ‍ियारों जैसे मोर्टार, शेल और रॉकेट तेज, स्वचालित और सटीक तरीके से पता लगा लेता है. रडार एक साथ विभिन्न स्थानों पर अलग-अलग हथियारों से दागे गए कई प्रोजेक्टाइल को पता लगा सकता है. भारतीय सेना जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर इसी रडार का उपयोग कर रही है.