Gujarat Exclusive > युथ > वेलिंग्टन टेस्ट: भारत की करारी हार, न्यूजीलैंड ने लगाया जीत का शतक

वेलिंग्टन टेस्ट: भारत की करारी हार, न्यूजीलैंड ने लगाया जीत का शतक

0
68

न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज का आगाज भारत की करारी हार के साथ शुरू होने की शायद ही किसी ने उम्मीद की होगी. लेकिन वेलिंग्टन में खेले गए पहले क्रिकेट टेस्ट में न्यूजीलैंड ने भारत को 10 विकेट से हरा दिया. पहले टेस्ट के चौथे दिन भारत ने सुबह अपनी दूसरी पारी चार विकेट पर 144 रन से आगे बढ़ाई लेकिन उसकी पूरी टीम 81 ओवर में 191 रन पर ढेर हो गई. इससे पहले भारत ने पहली पारी में 165 रन बनाए थे.

न्यूजीलैंड की 100वीं जीत

टिम साउदी (61 रन देकर पांच) और ट्रेंट बोल्ट (39 रन देकर चार) की जोड़ी ने दिखाया कि उनकी सीम और स्विंग के सामने भारत की मशहूर बल्लेबाजी लाइन अप में भी काफी सुधार की जरूरत है. टीम साउदी को उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया. न्यूजीलैंड के सामने नौ रन का लक्ष्य था जिसे उसने 1.4 ओवर में बिना किसी नुकसान के हासिल कर दिया. यह न्यूजीलैंड की टेस्ट क्रिकेट में 100वीं जीत रही. न्यूजीलैंड ने अपनी पहली पारी में 348 रन बनाए थे.

दूसरी पारी में भी फेल रहे भारतीय बल्लेबाज

भारतीय टीम पहली पारी में सिर्फ 165 रनों पर ढेर हो गई थी. ऐसे में दूसरी पारी से टीम को अपने बल्लेबाजों से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद थी दूसरी पारी में भी भारतीय बल्लेबाज नहीं चले और पूरी टीम महज 191 रनों पर ढेर हो गई. रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में पृथ्वी शॉ (14 रन) को पारी की शुरुआत करने का मौका मिला लेकिन यह युवा बल्लेबाज इसे भुना नहीं पाया. पुजारा की तकनीक भी यहां नहीं चल पाई. कप्तान विराट कोहली ने भी माना कि सिर्फ मयंक अग्रवाल (58 रन) और अजिंक्य रहाणे ही थोड़ा धैर्य दिखा पाए. खुद कोहली दोनों पारियों में कुल मिलाकर 21 रन बना पाए.

भारत ने सुबह चार रन के अंदर अजिंक्य रहाणे (29 रन) और हनुमा विहारी (15 रन) के विकेट गंवा दिए. चौथे दिन 20 मिनट के अंदर स्विंग के सुल्तानों ने भारत के दोनों भरोसेमंद बल्लेबाजों को पविलियन भेजकर न्यूजीलैंड की बड़ी जीत सुनिश्चित कर दी थी. ऋषभ पंत (25 रन) ने कुछ योगदान दिया जिससे भारत पारी की हार बचाने में सफल रहा लेकिन उन्हें दूसरे छोर से कोई मदद नहीं मिली. न्यूजीलैंड के विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में अब 120 अंक हो गए हैं. भारत अब भी 360 अंकों के साथ तालिका में शीर्ष पर बना हुआ है.