Gujarat Exclusive > देश-विदेश > भारत-चीन वार्ता का असर, लद्दाख में चीनी सेना 2.5 KM पीछे हटी

भारत-चीन वार्ता का असर, लद्दाख में चीनी सेना 2.5 KM पीछे हटी

0
1292

हाल ही में भारत और चीन के बीच सीमा विवाद पर हुई बातचीत का असर दिखने लगा है. खबर है कि भारत और चीन के सैनिकों ने पूर्वी लद्दाख के कुछ क्षेत्रों से आपसी सहमति के तहत सैनिकों को हटना शुरू किया है. बुधवार को पूर्वी लद्दाख के ‘हॉट स्प्रिंग्स’ क्षेत्र में शीर्ष सैन्य वार्ता होनी है.

सरकारी सूत्रों का कहना है कि इससे पहले, चीनी सैनिकों की एक ‘अच्‍छी खासी संख्‍या’ वापस ले ली गई है लेकिन इस बारे में कोई सटीक संख्या नहीं है. न्‍यूज एजेंसी एनआई ने सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया कि इस सप्ताह दोनों सेनाओं के बीच वार्ता पैट्रोलिंग पॉइंट 14 (गैलवान क्षेत्र), पैट्रोलिंग पॉइंट 15 और हॉट स्प्रिंग्स क्षेत्र सहित कई स्थानों पर आयोजित की जाएगी.

खबरों के मुताबिक लद्दाख में चीन की सेना 2.5 किलोमीटर पीछे हट गई है. लद्दाख में दो तीन जगहों पर चीन की सेना पीछे हटी है. खबरों के मुताबिक, चीन ने गैलवान घाटी या भारत के पेट्रोलिंग प्वाइंट को पार नहीं किया है और न ही कोई कब्जा किया है. हालांकि चीन ने अपने इलाके में सैनिक और युद्ध सामाग्री जमा किया है.

मालूम हो कि चीन और भारत की सीमा पर गैलवान घाटी में कई दिनों से तनाव की खबर आ रही है. इसी बीच खबर आई की चीन युद्धअभ्यास भी कर रहा है जिसके जवाब में भारत ने लद्दाख सीमा पर युद्धाभ्यास करते सैनिकों का वीडियो शेयर किया था. रविवार को चीन के मुखपत्र, ग्लोबल टाइम्स ने बड़ा दावा करते हुए कहा था कि चीनी सेना ने कुछ ही घंटों में हजारों सैनिक और आर्मर्ड गाड़ियों को हुबई प्रांत से भारत-चीन सीमा पर तैनात करने की तैयारी की है. हुबई प्रांत के वुहान से ही कोरोना वायरस निकला था जो आज पूरे विश्व में महामारी बन चुका है.

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज बाथरूम में नहाते हुए फिसले, जांघ में फ्रैक्चर