Gujarat Exclusive > देश-विदेश > मध्य प्रदेश के इंदौर ने लगातार 5वीं बार मारी बाजी, बना देश का सबसे स्वच्छ शहर

मध्य प्रदेश के इंदौर ने लगातार 5वीं बार मारी बाजी, बना देश का सबसे स्वच्छ शहर

0
78

दिल्ली: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्वच्छ सर्वेक्षण पुरस्कार 2021 में इंदौर को स्वच्छ शहर का पुरस्कार प्रदान किया. इंदौर ने यह सम्मान 5वीं बार हासिल किया है. दिल्ली: राष्ट्रपति कोविंद ने सूरत (गुजरात) और विजयवाड़ा (आंध्र प्रदेश) को देश के दूसरे और तीसरे सबसे स्वच्छ शहर बनने पर सम्मानित किया. स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 के विजेताओं का ऐलान हो गया है. उत्तर प्रदेश के वाराणसी को सबसे स्वच्छ गंगा शहर का खिताब मिला है.

केंद्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय की पहल ‘सफाईमित्र सुरक्षा चैलेंज’ के तहत बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले शहरों को मान्यता देते हुए सफाई कर्मचारियों के योगदान को सराहा गया. इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि वे बच्चे उन्हें कोई भी चीज सड़क पर फेंकने से टोकते हैं. ऐसे बदलाव के लिए मैं देशवासियों को बधाई देता हूं. स्वच्छता अभियान की सफलता के लिए मैं सफाई मित्रों और सफाईकर्मियों की विशेष रूप से सरहाना करता हूं.

दिल्ली में आयोजित ‘स्वच्छ अमृत महोत्सव’ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आगे कहा कि देशवासियों की सोच में बदलाव, स्वच्छ भारत अभियान की बहुत बड़ी सफलता है. आज यह बदलाव व्यापक स्तर पर हुआ है. अब तो बहुत से परिवारों में छोटे बच्चे भी परिवार के बड़े लोगों को गंदगी फैलाने से रोकते हैं.

स्वच्छ भारत मिशन-शहरी 2.0 के तहत भारत को कचरा-मुक्त बनाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दृष्टकोण की तर्ज पर कचरा-मुक्त शहरों की श्रेणी के तहत प्रमाणित शहरों को इस समारोह में सम्मानित किया गया. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इंदौर शहर को देश के सबसे स्वच्छ शहर होने पर स्वच्छ सर्वेक्षण पुरस्कार 2021 से सम्मानित किया. इस दौरान इंदौर में नगर निगम के कर्मचारियों ने जश्न मनाया. इंदौर ने यह पुरस्कार 5वीं बार हासिल किया है.

PM ने किसानों को कहा था आंदोलनजीवी, लखीमपुर केस में बर्खास्त हों मंत्री: प्रियंका गांधी