Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात: सालाना अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव रद्द, कोरोना के कारण फैसला

गुजरात: सालाना अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव रद्द, कोरोना के कारण फैसला

0
436

कोरोना महामारी ने देश के कई महोत्सवों (International Kite Festival) पर पाबंदी लगा दी है. इसी बीच गुजरात सरकार ने उत्तरायण के दौरान गुजरात में हर साल आयोजित होने वाले वार्षिक अंतर्राष्ट्रीय पतंग महोत्सव (International Kite Festival) को रद्द करने का फैसला किया है.

यह निर्णय गुजरात हाईकोर्ट में दायर एक जनहित याचिका की के बाद आया है. हाई कोर्ट ने कोरोना के मौजूदा हालात के बारे में टिप्पणी करते हुए कहा गया था कि लोग जिंदा रहे तो अगले साल भी त्योहार मना लेंगे.

यह भी पढ़ें: किसानों ने सरकार के बातचीत के प्रस्ताव को स्वीकारा, 29 दिसंबर को बैठक की पेशकश

अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव (International Kite Festival) हर साल अहमदाबाद के रिवरफ्रंट पर आयोजित किया जाता है. कोरोना महामारी के कारण राज्य में जल्द ही उत्तरायण समारोह (International Kite Festival) के लिए दिशानिर्देश जारी किए जाने की संभावना है. बता दें कि गुजरात में दिवाली के बाद कोरोना मामलों में वृद्धि देखने को मिली थी. हालांकि अब कोरोना के नए मामलों में कमी दर्ज की जा रही है.

गुजरात सरकार ने राज्य के चार शहरों- राजकोट, अहमदाबाद, सूरत और वडोदरा में नाइट कर्फ्यू लगाया था. कर्फ्यू की समयसीमा 8 दिसंबर की आधी रात को खत्म होनी थी लेकिन सरकार ने इसे जारी रखने का फैसला किया. खासतौर से अहमदाबाद में नाइट कर्फ्यू जारी रखने का फैसला किया गया क्योंकि इस शहर में अभी भी नए मामलों में वृद्धि दर्ज की जा रही थी.

कई आयोजन टाले गए

अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव (International Kite Festival) से पहले कई आयोजन रद्द हो चुके हैं. कुछ समय पहले डीसीपी हर्षद पटेल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि क्रिसमस और नए साल का जश्न रात 9 बजे के बाद नहीं हो सकता. दिन के दौरान समारोहों की अनुमति होगी बशर्ते लोग कोरोना दिशानिर्देशों का पालन करें.

2021 के जनवरी या फरवरी में होने वाले वाइब्रेंट गुजरात समिट को भी कोरोना के कारण रद्द कर दिया गया था. इसी साल अहमदाबाद के जीएमडीसी मैदान में आयोजित होने वाले वार्षिक गरबा समारोह- द वाइब्रेंट गुजरात नवरात्रि- को भी रद्द कर दिया था. नवरात्रि के दौरान किसी भी सार्वजनिक आयोजन या गरबा की अनुमति नहीं थी. वहीं अहमदाबाद नगर निगम ने कोरोना के मामलों में वृद्धि के कारण वार्षिक कांकरिया कार्निवल का आयोजन नहीं करने का भी फैसला किया.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें