Gujarat Exclusive > देश-विदेश > महिला दिवस पर दिल्ली पुलिस की खास पहल, डीयू में सरपट दौड़ी महिला PCR वैन

महिला दिवस पर दिल्ली पुलिस की खास पहल, डीयू में सरपट दौड़ी महिला PCR वैन

0
263

International Womens Day: आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस है. इस मौके पर दिल्ली पुलिस एक अनोखी पहल है कि आज पुलिसिंग का आधिकतर काम महिला पुलिसकर्मियों के हाथ में ही होगा, जैसे – थाने का काम, ट्रैफिक का काम और PCR की कमान ये सब महिलाओं के हाथ में होगा.  इस दौरान दिल्ली यूनिवर्सिटी में महिला पुलिसकर्मियों से लैस पीसीआर को तैनात किया है. International Womens Day

दिल्ली पुलिस की डीसीपी पीसीआर दिशा पांडे ने 15 महिला पीसीआर को हरी झंडी दिखाई. इसके बाद यह महिला पीसीआर दिल्ली यूनिवर्सिटी की सड़कों पर दौड़ने लगी, इन सभी महिला पीसीआर में कुल 45 महिला पुलिसकर्मी तैनात हैं. International Womens Day

यह भी पढ़ें: महिला दिवस पर किसान आंदोलन की कमान महिलाओं के हाथ, कानून रद्द करने की मांग

दिल्ली यूनिवर्सिटी में कई बार छेड़खानी की घटनाएं भी सामने आती हैं. ऐसे में कई बार देखा गया है कि छात्राएं अपनी शिकायत पुलिस तक नहीं पहुंचा पाती हैं. इस तरह की परिस्थितियां ना बनें इसके लिए लड़कियां या छात्राएं अपने साथ होने वाली किसी भी घटना को पुलिस के सामने बिना हिचक के आसानी से रख सकें उसके लिए दिल्ली पुलिस की तरफ से उठाया गया ये बड़ा कदम है. International Womens Day

दिल्ली पुलिस के के मुताबिक दिल्ली पुलिस में महिला पुलिस कर्मियों की संख्या करीब 11000 है. इसमें महिला अधिकारी व अलग-अलग विभाग में तैनात महिला पुलिसकर्मी हैं. इस महिला दिवस पर यह सभी महिला पुलिसकर्मी नजर आएंगी. थानों का काम, ट्रैफिक का काम और पीसीआर की कमान महिला पुलिस कर्मियों के हाथ में होंगी. अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिला पुलिसकर्मियों को सम्मान देने के लिए दिल्ली पुलिस ने यह पहल की है. दिल्ली पुलिस की इस पहल में दिल्ली के अधिकतर स्थानों में ड्यूटी ऑफिसर महिला पुलिसकर्मी को बनाया जाएगा और सहायता के लिए पुरुष पुलिसकर्मी को रखा जाएगा. International Womens Day

पीसीआर में जन्म देने वाली महिलाओं को बुलावा

वहीं दूसरी तरफ अधिकारियों ने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर 8 मार्च को दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर में एक कार्यक्रम में 9 ऐसी महिलाओं को बतौर महमाने के रूप में बुलाया जाएगा, जिन्होंने PCR में बच्चों को जन्म दिया था. पुलिस के अनुसार, PCR यूनिट ने लॉकडाउन के दौरान 2020 में 997 गर्भवती महिलाओं को अलग-अलग अस्पतालों में पहुंचाया था और ऐसे नौ मामलों में पीसीआर वैन में ही बच्चों की डिलिवरी हुई थी. International Womens Day

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें