Gujarat Exclusive > देश-विदेश > इंटरपोल ने किया आगाह- कोरोना संक्रमित चिट्ठी से नेताओं को बनाया जा रहा निशाना!

इंटरपोल ने किया आगाह- कोरोना संक्रमित चिट्ठी से नेताओं को बनाया जा रहा निशाना!

0
201

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का प्रकोप अभी भी जारी है. इसी बीच कोरोना संक्रमण को लेकर एक एक बड़ी साजिश का पता चला है. इंटरपोल (Interpol) ने चेतावनी दी है कि दुनिया के दिग्गज नेताओं और हस्तियों के खिलाफ दुश्मन कोरोना का इस्तेमाल कर रहे हैं. अंतरराष्ट्रीय एजेंसी इंटरपोल (Interpol) ने दावा किया है कि नामचीन हस्तियों और नेताओं को निशाना बनाने के लिए कोरोना संक्रमित चिट्ठी का सहारा लिया जा सकता है.

इंटरपोल (Interpol) ने सभी देशों की प्रमुख एजेंसियों को चेतावनी दी है कि वह ऐसे पत्रों से सतर्क रहें, जो कोरोना से संक्रमित हो सकते हैं. वैश्विक नेताओं को निशाना बनाने के लिए उन्हें इस तरह के संक्रमित पत्र भेजे जा सकते हैं.

यह भी पढ़ें: ओवैसी का आरोप- बेकसूर मुस्लिमों और दलितों के खिलाफ इस्तेमाल किया जा रहा UAPA

भारत समेत दुनिया को चेतावनी

अंतरराष्ट्रीय आपराधिक पुलिस संगठन – इंटरपोल (Interpol) ने भारत समेत दुनिया भर की सुरक्षा एजेंसियों को चेतावनी देते हुए कहा कि वह सावधानी बरतें. खास तौर पर दस्तावेजों को लेकर अलर्ट रहें. इंटरपोल ने दावा किया है कि कोरोना संक्रमित चिट्ठी के जरिए राजनीतिक शख्सियतों को निशाना बनाया जा सकता है.

इंटरपोल (Interpol) ने अलर्ट जारी करते हुए कहा कि राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और बड़े नेताओं को कोरोना संक्रमित चिट्ठी के जरिए निशाना बनाया जा सकता है. इंटरपोल ने कहा कि बड़े स्तर पर साजिश रची जा रही है. इनसे अलर्ट रहने की जरूरत है. इंटरपोल ने कहा कि ‘जांच एजेंसियों के अधिकारियों, डॉक्टर्स और एसेंशियल वर्कर्स को डराने के लिए उनके चेहरे पर खांसने और थूकने के उदाहरण सामने आए है. कुछ जगहों पर सतहों और वस्तुओं पर थूकने और खांसने से जानबूझकर संक्रमण फैलाने के प्रयास की सूचना मिली है.

ऑनलाइन बेचे जा रहे संक्रमण

इंटरपोल (Interpol) ने कहा कि ऐसे भी कुछ मामले सामने आए हैं, जहां राजनेताओं को कोरोना संक्रमित पत्र भेजे गए हैं. कोरोना संक्रमित चिट्ठी को अन्य समूहों पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है. हालांकि, इंटरपोल ने ऐसे किसी भी नेता के नाम का जिक्र नहीं किया है, जिसे संक्रमित चिट्ठी भेजी गई हो. इंटरपोल ने बताया कि कुछ लोग संक्रमित सैंपल को ऑनलाइन भी बेच रहे हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें