Gujarat Exclusive > गुजरात > नशीले टमाटर का अहमदाबाद में आतंक, काले कारोबार के चपेट में नौजवान

नशीले टमाटर का अहमदाबाद में आतंक, काले कारोबार के चपेट में नौजवान

0
627

अहमदाबाद : गुजरात में शराबबंदी कानून लागू होने की वजह से राज्य में शराब पीना और नशीले पदार्थ को बनाना कानून अपराध है ऐसे में नशा के कारोबार से जुड़े लोग इस व्यापार को फैलाने के लिए नये-नये तरीके का इस्तेमाल करते हैं. न्यूज18 गुजराती के एक रिपोर्ट के अनुसार अहमदाबाद में नशा वाले टमाटर का कारोबार बड़े पैमाने पर चल रहा है. इस काले कारोबार से जुड़े लोग लोगों के खाने में इस्तेमाल होने वाले टमामटर को अपना टार्गेट बनाया है और टमाटर में शराब भरकर इसे नशीले टमाटर को बेचकर जमकर कमाई कर रहे हैं.

न्यूज18 गुजराती को दिये इंटरव्यू में नशा के कारोबार से जुड़े लोगों ने बताया कि “इस तरह के टमाटर की मांग धीरे-धीरे बढ़ रही है प्रतिदिन 50 से 60 किलो टमाटर बनाते हैं, 31 दिसंबर के दिन पुलिस के डर से लोग शराब पीने से पीने से डरते हैं, लेकिन टमाटर आसानी से कहीं भी ले जाया जा सकता है. यहां तक ​​कि टमाटर को सड़क पर खड़े होकर भी खाया जा सकता है ”

वहीं एक ग्राहक ने चैनल को बताया कि इस नशीले टमाटर को हम घर मंगवाकर अलग-अलग चीजों को डालकर जायकेदार बनाते हैं और फिर खाते हैं.वहीं दूसरे ग्राहकों का कहना है कि 31 दिसंबर होने की वजह से शराब व्यापारी भाव खाते हैं उसके मुकाबले 100 रुपये में मिलने वाला ये टमाटर सस्ता और आसानी से मिल जाता है.

टमाटर को नशीला बनाने के लिए इंजेक्शन का इस्तेमाल किया जाता है बूटलेगर्स के अनुसार, इंजेक्शन लगाने के आधे घंटे के बाद ही टमाटर नशीला होता है, एक टमाटर खाने से एक पेग का नशा जबकि तीन टमाटर खाने से तीन पेग का नशा मिलता है.